जानिए राष्ट्रपति भवन के बारे में वो बाते जिनसे आप आज तक अनजान थे …..

राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली के बीचो बीच हृदय क्षेत्र में स्थित है। राष्ट्रपति भवन भारत सरकार के वर्तमान राष्ट्रपति का सरकारी आवास है। सन 1950 तक इसे वाइसरॉय हाउस कहा जाता था। तब यह तत्कालीन भारत के गवर्नर जनरल का निवास स्थान हुआ करता था। इस राष्ट्रपति भवन में 340 कक्ष हैं और यह विश्व में अन्य किसी भी राष्ट्राध्यक्ष के आवास से बड़ा है। वर्तमान भारत के राष्ट्रपति, उन कक्षों में नहीं रहते, जहां वाइसरॉय रहते थे, बल्कि वे अतिथि-कक्ष में रहते हैं। भारत के प्रथम भारतीय गवर्नर जनरल श्री सी राजगोपालाचार्य को राष्ट्रपति भवन का मुख्य शयन कक्ष, अति आडंबर पूर्ण लगा जिस कारण उन्होंने अतिथि कक्ष में रहना सर्वोचित समझा। उनके पश्चात्स भी राष्ट्रपतियों ने यही परंपरा निभाई। यहां के मुगल उद्यान की गुलाब वाटिका में अनेक प्रकार के गुलाब लगते हैं और इस भवन की सबसे खास बात है कि इस भवन के निर्माण में लोहे का प्रयोग न के बराबर हुआ है।

वैसे तो अआप इसके बारे में बहुत कुछ जानते होंगे मगर इस विशाल भवन के साथ ही कई अन्य प्रमुख तथ्य भी जुड़े हैं। इनके बारे में आपने शायद ही सुना होगा आइए जानते हैं राष्ट्रपति भवन के बारे में पूरी जानकारी

1. 17 साल बनने में लगे

राष्ट्रपति भवन 70 करोड़ ईटों का सुन्दर भवन है। इसे बनाने में 29,000 मजदूरों की मेहनत लगी है। यह राष्ट्रपति भवन बनाने से पहले 300 परिवारों को यहाँ से हटाया गया था।

2.राष्ट्रपति कलाम के लिए खास झोपड़ी

डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम के कार्यकाल के समय यहाँ एक ‘थिंकिंग हट’ भी बनाई गई थी। जानकारी के मुताबिक डॉ. कलाम फ्री टाइम यहीं बिताया करते थे। उनका कार्यकाल खत्म होने के बाद इस झोपड़ी को हटा दिया गया था।

गजब दुनिया
गजब दुनिया

3.दरबार हॉल से शॉर्टकट

‘दरबार हॉल’ राष्ट्रपति भवन के सेंट्रल डोम में स्थित है। यदि दरबार हॉल से सीधा बाहर निकले तो ‘इंडिया गेट’ पहुंच सकते हैं।

गजब दुनिया
गजब दुनिया

4.तीन मंजिला म्यूजियम

2016 में ही राष्ट्रपति भवन में एक तीन मंजिला म्यूजियम बनकर तैयार हुआ है। 80 करोड़ की लागत में बना यह म्यूजियम देश का प्रथम अंडरग्राउंड म्यूजियम बना । इस म्यूजियम में इतिहास की कई चीजों को बहुत ही खूबसूरती से दर्शाया गया है।

गजब दुनिया
गजब दुनिया

5.बुद्ध की मूर्ति

दरबार हॉल के अंत में भगवान बुद्ध की मूर्ति भी है। यह मूर्ति चौथी सदी में बनी थी। यह मूर्ति उतनी ही ऊंचाई पर है, जितनी ऊंचाई पर इंडिया गेट है।

गजब दुनिया
गजब दुनिया

6.शनिवार को एंट्री

हर शनिवार यहां सुबह 10 बजे ‘चेंज ऑफ गॉर्ड’ सेरेमनी होती है। यह सेरेमनी 30 मिनट की होती है। इसे आम लोग भी देख सकते हैं। इस दौरान व्यक्ति को अपना आईडी कार्ड शो करना होता है। इसके अलावा शुक्रवार और रविवार को भी सुबह 9-4 के बीच राष्ट्रपति भवन में एंट्री मिलती है।गजब दुनिया

गजब दुनिया
गजब दुनिया

7..मुगल गार्डन 

राष्ट्रपति भवन के पीछे बनाए गए मुगल गार्डन में कई प्रजातियों के फूल मौजूद हैं। यहाँ हर साल फरवरी में ‘उद्यानोत्सव’ भी होता है। इस दौरान यह गार्डन आम जनता के लिए खोला जाता है।

गजब दुनिया
गजब दुनिया

8.साइंस एंड इनोवेशन गैलेरी 

2015 में शुरू हुई इस गैलेरी में ‘Clumsy’ नाम का एक रोबोटिक डॉग भी है। ये एक असली कुत्ते की तरह नजर आता है। इस गैलेरी को ‘नवाचार कक्ष’ नाम दिया गया है। यहाँ विज्ञान से जुड़ी और भी कई मजेदार चीजें हैं।

9.प्लैनेट वॉल

होनहार विद्यार्थियों के लिए एक खास दीवार भी है। इस वॉल पर साइंस एंड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश का नाम रोशन कर चुके बच्चों के नाम लिखे जाते हैं। कुछ छोटे ग्रहों को बच्चों का नाम भी दिया जाता है।

10.अशोका हॉल 

भवन का अशोका हॉल कितना खूबसूरत है, यह तो आप देख ही सकते हैं। इस हॉल में मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह जैसे आयोजन होते हैं। यहाँ लगे कारपेट्स को जम्मू-कश्मीर के बुनकरों ने बुना था।

गजब दुनिया
गजब दुनिया

11. बैंक्वैट हॉल

राष्ट्रपति भवन के इस बैंक्वेट हॉल में एक बार में 104 मेहमान भोजन कर सकते हैं। यहाँ पूर्व राष्ट्रपतियों की तस्वीरें लगी हैं। इनके ऊपर खास लाइटिंग सिस्टम भी है, जो बटलर्स के लिए सिग्नल का काम करता है।

गजब दुनिया
गजब दुनिया

Add a Comment