आखिर द्रोपती ने क्यों किया श्रीकृष्णा के लिए करवा चौथ का व्रत ,जानिए महाभारत की अनसुनी कहानी ….

0
17505

करवा चौथ हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। यह भारत के पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान का पर्व है। यह कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। यह पर्व सुहागिन स्त्रियाँ मनाती हैं। यह व्रत सुबह सूर्योदय से पहले करीब 4 बजे के बाद शुरू होकर रात में चंद्रमा दर्शन के बाद संपूर्ण होता है। ग्रामीण स्त्रियों से लेकर आधुनिक महिलाओं तक सभी नारियाँ करवाचौथ का व्रत बडी़ श्रद्धा एवं उत्साह के साथ रखती हैं। शास्त्रों के अनुसार यह व्रत कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की चन्द्रोदय व्यापिनी चतुर्थी के दिन करना चाहिए।

पति की दीर्घायु एवं अखण्ड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए इस दिन भालचन्द्र गणेश जी की अर्चना की जाती है। पुराण के अनुसार हम आपको एक ऐसी ही कहानी बताने वाले हैं जब अर्जुन की पत्नी द्रोपदी ने श्री कृष्ण के लिए करवा चौथ का व्रत किया था। यहाँ सबसे जरुरी बात यह है कि इस व्रत का अर्जुन को पता ही नहीं था तो ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर द्रोपदी ने श्रीकृष्ण के लिए करवा चौथ का व्रत क्यों किया था? तो आइये आपको इस कहानी का सारा सच बताते हैं क्योकि द्रोपदी का करवा चौथ का व्रत इतिहास में दर्ज हो गया था-

 

द्रोपदी ने आखिर क्यों किया था कृष्ण के लिए करवा चौथ का व्रत –

Loading...

एक बार का जिक्र है कि अर्जुन निलगिरी के जंगलों में तपस्या करने गया था लेकिन काफी समय बीत जाने पर भी जब वह वापिस नहीं आया तो द्रोपदी को चिंता होने लगती है। इधर पांडवों पर भी तरह-तरह की विपदाएं आने लगती हैं तो द्रोपदी कृष्ण को याद करती हैं और कृष्ण सामने हाजिर होकर द्रोपदी को करवा चौथ का व्रत रखने के लिए कहते हैं। साथ ही बताते हैं कि बहन अपने भाई की सलामती के लिए भी करवा चौथ कर सकती हैं।

तब द्रोपदी ने भगवान कृष्ण के लिए भी करवा चौथ का व्रत रखा था ताकि वह भी सुरक्षित रहें। ज्ञात हो कि कृष्ण को द्रोपदी अपना भाई मानती थी। जैसे ही द्रोपदी का व्रत आधा होता है तो अर्जुन वापस आ जाता है। इस प्रकार से द्रोपदी का व्रत पूरा हो जाता है तो इस प्रकार से करवा चौथ का महत्त्व हमारे शास्त्रों में भी बताया गया है। महाभारत से पूर्व भी करवा चौथ था यह बात भी इस कहानी से सिद्ध होती है इसलिए हर सुहागन को अपने पति की लम्बी आयु के लिए करवा चौथ रखना चाहिए।

YOU MAY LIKE
Loading...