ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर माइक हसी ने धोनी और विराट कोहली को लेकर दिया बड़ा बयान

Loading...

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने सीरीज दर सीरीज जीतकर खुद को एक कप्तान के तौर पर साबित किया है। उनकी काबिलियत से कोई भी अंजान नहीं है। हर कोई उनके खेल का कायल है। कोहली कप्तानी की तुलना अब महान क्रिकेटर रिकी पोंटिंग की कप्तानी से की जाने लगी है।

ऑस्ट्रेलिया के महान पूर्व क्रिकेटर माइक हसी ने विराट कोहली की कप्तानी की तुलना रिकी पोंटिंग की कप्तानी से की और उनके कप्तानी के अंदाज की तारीफ की। साथ ही भारतीय टीम के पूर्व कप्तान मह्नेंद्र सिंह धोनी के संन्यास को लेकर भी बड़ा बयान दिया है। हसी ने कहा, “मैंने हमेशा कोहली की कप्तानी का आनंद लिया है। उनमें जीतने की इच्छा कूट-कूटकर भरी है और मैं उनमें रिकी पोंटिंग की कप्तानी की समानताएं देख सकता हूं। पोंटिंग हमेशा सफलता के लिए भूखे रहते थे और हमेशा अपनी टीम को उसे आगे की ओर धकेलते थे।

एमएस धोनी बेहतरीन कप्तान थे और विराट के लिए धोनी की जगह भर पाना चुनौती होगी। लेकिन विराट को लेकर अच्छी बात ये है कि वह धोनी के तरीकों का इस्तेमाल नहीं करना चाहते।” “उन्होंने अपने अंदाज में टीम की अगुआई की है। वह अपने व्यक्तित्व को लेकर हमेशा से सच्चे रहे हैं। पिछले कुछ सालों के दौरान टीम इंडिया परिवर्तनकाल से गुजर रही थी। लेकिन अब टीम स्थिर है। यह भारतीय क्रिकेट के लिए बेहतरीन समय है। खिलाड़ियों को अपने कप्तान पर भरोसा है और हर किसी का दृष्टिकोण एक है। जाहिरतौर पर आने वाले समय में चुनौतियां आएंगी। इस दौरान कप्तान ही नहीं बल्कि खिलाड़ियों की भी अग्निपरीक्षा होगी।”

वहीं हसी ने धोनी के संन्यास को लेकर और धोनी के 2019 विश्व कप तक खेलने की संभावनाओं के बारे में बातचीत करते हुए कहा, “एमएस अपनी शर्तों पर संन्यास लेने या न लेने के योग्य हैं। अगर उन्हें लगता है कि उन्हें 2019 विश्व कप खेलना है तो उनपर कौन शक कर सकता है? वह बहुत ही विनम्र और ईमानदार व्यक्ति हैं। अगर वह सोचते हैं कि वह साल 2019 में भारतीय टीम की सफलता में योगदान नहीं दे सकते तो मुझे नहीं लगता कि वह वहां जाएंगे। 36 साल की उम्र में भी वह मेरे हिसाब से सबसे फिट खिलाड़ी हैं। वह अपना गेम जानते हैं और अपने शरीर का बढ़िया ख्याल रख रहे हैं। इसलिए वह जानते हैं कि कब अलविदा कहना है।”

YOU MAY LIKE
Loading...