जानिए चरण स्पर्श के पीछे का वैज्ञानिक कारण…

भारतीय संस्कृति में अपने वृद्धजनों के नम्रतापूर्वक चरण स्पर्श करने की एक परम्परा बनी हुई है, अपनो से बड़ो के चरण स्पर्श करने से उनका मान सम्मान भी बढ़ता है और हमें भी आशीर्वाद मिलता है । लेकिन इसके पीछे भी एक वैज्ञानिक कारण भी है, आइये जानते है इसके पीछे का कारण..

पैर के अंगूठे द्वारा विशेष शक्ति का संचार होता है। जब हम अपनों से बड़ो के पैर स्पर्श करते है तो पांव के अंगूठे में विद्युत संप्रेषणीय शक्ति होती है।

यही कारण है कि वृद्धजनों के चरण स्पर्श करने से जो आशीर्वाद मिलता है उससे अविद्यारूपी अंधकार नष्ट होता है और व्यक्ति उन्नति करता है। कहते हैं, जो फल कपिला नामक गाय के दान से प्राप्त होता है और जो कार्तिक व ज्येष्ठ मासों में पुष्कर स्नान, दान, पुण्य आदि से मिलता है, वह पुण्य फल ब्राह्मण वर के पाद प्रक्षालन एवं चरण वंदन से प्राप्त होता है।

YOU MAY LIKE