चाणक्य की इन बातो से आपको अवश्य मिलेगी , सुन्दर पत्नी ……

हमेशा से ही शादी एक प्रेम का बंधन रहा है इसी कारण महान चाणक्य ने भी यह जाना की लोगो की समस्या सामाजिक जीवन में है इसलिए उन्होंने अपनी चाणक्य निति में ऐसे कितने ही तथ्य बताये जिनसे आप की सामाजिक समसयाओ का निवारण होगा | आचार्य चाणक्य ने कुल 5 ऐसी सच्चाईयों के बारे में वर्णन किया है जो यदि हर पुरुष जान ले और समझ ले तो फिर उसका विवाह एक सुंदर स्त्री से होना तय है , तो आइए आज हम आपको बताते है की आचार्य चाणक्य के बताये वो तथ्य जिनसे आपको मिलेगी एक सुन्दर स्त्री ……

गज़ब दुनिया
गज़ब दुनिया

1. स्वयं के गुणों को देखे 

अगर किसी पुरुष को यह लगता है कि उसकी पत्नी सुंदर नहीं है, तो सबसे पहले वह खुद को शीशे में अवश्य देखे | अगर शीशे में देखने पर उसे शारीरिक सुंदरता दिखाई दे भी ,परन्तु आन्तरिक सुन्दरता महत्त्व रखती है |सुंदरता चेहरे पर नहीं,अपितु दिल में होती है, यह हर पुरुष को समझना अवश्य समझना चाहिए और कमियां हर किसी में होती है, इस संसार में कोई भी व्यक्ति सर्वगुण सम्पन्न नहीं है यह हर किसी को जानना चाहिए |

2. पत्नी के गुणों को सम्मान की नज़र से देखना चाहिए

Loading...

चाणक्य का कहना है कि अगर किसी पुरुष को अपनी पत्नी के प्रति मन में मोह उत्पन्न नहीं होता, तो वह एक काम अवश्य करे| अपनी सोच को पीछे करके वह कुछ दिन के लिए केवल और केवल अपनी पत्नी के स्वभाव पर गौर करे| उसके गुण-अवगुण दोनों को परखने का प्रयास करे , ध्यान पूर्वक उसकी गतिविधियों को जानें, वह अपने पति के परिवार के प्रति कितनी समर्पित है वह अवश्य जाने | यदि आंकलन करने के पश्चात उसके गुण, अवगुणों पर भारी पड़े तो इससे अच्छी पत्नी नहीं मिल सकती यही सोचने में भलाई है |

3. अपना अपमान कभी भी नहीं भूलना चाहिए

चाणक्य का कहना है कि व्यक्ति को अपनी योग्यता तभी समझ में आती है जब वह अपमानित किया जाता है, तब वह समझ पाता है कि समाज उसके बारे में क्या सोचता है, लेकिन इस अपमान के बाद यदि वह खुद को उबार ले, तो वह सफल अवश्य हो जाता है| एक ऐसे पुरुष को, जिसे अपनी पत्नी सुंदर नहीं लगती, यदि उसे उस अपमान की याद दिलाई जाए, उस स्त्री के बारे में बताया जाए जिसने उसे अपमानित किया था, तब उसे अपनी पत्नी की अहमियत समझ में आती है|

4. अपने बुरे वक्त को हमेशा याद रखना चाहिए

आकर्षण से भरे इस समाज में यदि एक पुरुष को अपनी पत्नी में सुंदरता दिखाई ना दे तो कम से कम उसके स्वभाव की सुंदरता को याद रखें| उस समय को याद करें जब समाज के विरुद्ध खड़ी आपकी पत्नी केवल आपका साथ दे रही थी|

5. खुद के आचरणों को भी अपनी पत्नी की अपेक्षानुसार बनाएं

चाणक्य के अनुसार किसी दूसरे को बुरा-भला कहने से पहले खुद के आचरण की ओर भी ध्यान देना चाहिए| आपने अपनी पत्नी से जो बातें छिपाई हैं, उसे दिए हुए धोखे को याद कीजिए| उसके बाद भी यदि आपकी पत्नी आपको हमेशा समर्थन देती है, तो आप एक भाग्यशाली पति हैं|

YOU MAY LIKE
Loading...