Category: प्रेरणा

फ़र्ज़ के लिए समर्पित यह सिपाही भारी बारिश में नंगे पैर और गीली वर्दी में डटा रहा

आपने पुलिस वालों के कई ऐसे वीडियो और फोटोज़ देखे होंगे, जिनमें वो किसी से रिश्वत या मनमानी करते हुए नज़र आते हैं। पर भारी बारिश में भी अपने फ़र्ज़ के लिए समर्पित राकेश कुमार जैसे व्यक्तियों की ही वजह से...

यंहा सांप को बेटे की तरह पाला जाता है, दहेज में भी मिलते हैं सांप …

इंसान और सांप कभी दोस्त नहीं हो सकते हैं। आंकड़े बताते हैं कि देश में हज़ारों मौतें सांप काटने की वजह से हो जाती हैं। लेकिन हम जो स्टोरी आपको बताने जा रहे हैं, शायद आप उस पर विश्वास ना करें।...

प्रेरणा – सोलहवीं शताब्दी की एक वीरांगना, जिन्होंने पुर्तगालियों को किया पराजित

भारत एक ऐसा देश था, जो 200 साल तक अंग्रेजों के राज के अधीन रहने के बाद भी अडिग खड़ा रहा. देश को आज़ाद कराने के लिए न जाने कितने महान व्यक्तियों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी। भारतीय स्‍वतंत्रता के...

जब एक राजकुमार बन गया संन्यासी, उनके तप और ज्ञान के आगे नतमस्तक हो गयी दुनिया

बौद्ध धर्म को दुनिया भर के चार बड़े धर्मों में से एक माना जाता है और गौतम बुद्ध को इस धर्म का संस्थापक कहा जाता है। आज अगर दुनिया भर में बौद्ध धर्म के अनुयायियों की संख्या लगातार बढ़ रही है...

चांद पर जाएगा भारत के गांव का यह बेटा…

यूपी के छोटे से जनपद शामली की तंग गलियों में से निकलकर प्रतिभावान नवीन कुमार जैन ने कुछ ऐसा कर दिखाया, जिसने शामली का नाम देश, दुनिया में ही नहीं बल्कि ब्रह्मांड तक रोशन कर दिया है। अमेरिका ने चांद पर...

इस गांव के लोगों ने शराब पीने की आदत को शतरंज के खेल में बदल दी

कहते हैं कि अगर इंसान को किसी भी चीज़ की लत एक बार लग जाए तो उसे छुड़ा पाना मुश्‍किल होता है. लेकिन केरला में बसे एक गांव के जज्‍़बे को देख कर ऐसा नहीं लगता है. ‘मारूती चल’ नाम के...

ईशा ने सिर्फ एक मेसेज देने के लिए तय किया 30000 KM का सफर

लड़कियां तुम ये नहीं कर सकती वो नहीं कर सकतीं। तुम्हें ये नहीं करना चाहिए। तुम्हें वहां नहीं जाना चाहिए। ये सेफ नहीं होगा, वो सेफ नहीं होगा। इंडिया बहुत ही बेकार जगह हो गई है। लड़कियां यहां कभी सेफ नहीं...

10 रियल लाइफ प्रेरणादायक कहानियां, जो आपको भी जीना सिखा देंगी

ये कहानियां उन लोगों की है, जिन्होंने मुश्किलों पर जीत दर्ज की है। अपनी अलग राह बनाई है। इन किरदारों ने ऐसा उदाहरण पेश किया है, जिसे जानने के बाद आप अपने जीवन की कमियां भी भूल जाएंगे। इनमें से कई...

हमारे कल के लिए 22 साल की उम्र में इन्होने देश के लिए अपने प्राण दे दिए – सलाम है इन्हे

ग्वालियर, वही ग्वालियर जिसने हिन्दुस्तान के इतिहास के कई पन्ने लिखे हैं। इस बार उसी ग्वालियर को इतिहास के पन्नों में खुद के लिए जगह मिल गई थी। जो हिस्सा सोने से लिखा गया। तारीख 12 दिसम्बर 1998, 2-राजपूताना राइफ़ल्स को...

86 वर्षीय की उम्र में भी इस महिला ने संभाली पंचायत के मुखिया की बागडोर

देश के युवाओं में राजनीति का नया चेहरा देखा जा रहा है। माना जा रहा है कि आज का युवा देश में बदलाव लाने में पूरी तरह से समर्थ है। युवा नेतृत्व को लेकर पूरी दुनिया में तरह-तरह के वाद-विवाद चल...