Category: पौराणिक कहानिया

पानी माँगा तो ऐसी महिला से हुआ कालिदास का सामना

कालिदास एक बार भ्रमण करते-करते एक गांव पहुंचे गए. बहुत प्यास लगी थी, तो एक घर के द्वार जाकर पानी मांगा. वहां मौजूद स्त्री और अपने ज्ञान के चलते ख्याति अर्जित कर चुके कालिदास के बीच रोचक संवाद हुआ. एक नजर...

राम भक्त हनुमान जी से जुड़े तीन भक्तिपूर्ण प्रेरक प्रसंग

हनुमान जी की कहानियां  मित्रों , आज हनुमान जयंती है , इस शुभ अवसर पर हम आपके साथ भगवान राम के प्रति पूर्ण समर्पण और भक्ति को दर्शाते हनुमान जी के तीन प्रेरक प्रसंग साझा कर रहे हैं। जय हनुमान। पहला...

Lord Rama Stories in Hind , भगवान राम के जीवन से जुड़े 5 प्रेरक प्रसंग

अपने पिता महाराज दशरथ की आज्ञा पाकर श्रीराम सीता मैया और लक्षमण जी के साथ 14 वर्ष का वनवास काटने के लिए अयोध्या से प्रस्थान कर गए. इसके बाद वे प्रयाग (इलाहाबाद), चित्रकूट, पंचवटी ( नासिक ), दण्डकारण्य, लेपक्षी, किश्किन्दा, रामेश्वरम,...

रावण ने की इस शिवलिंग की पूजा तो पूरी लंका सोने की हो गई….

पारद को दुनिया का सबसे शुद्ध पदार्थ माना गया है। कहते हैं कि पारद भगवान भोलेनाथ को सबसे ज्याोदा प्रिय है। शास्त्रों के अनुसार पारद के शिवलिंग को शिव का स्वयंभू प्रतीक भी माना गया है। रूद्र संहिता में रावण के...

यहां हजारों वर्षों से वर्जित है हनुमान की पूजा करना, इस एक वजह से

रामायण में भगवान राम के बाद उनके भक्त हनुमान का जिक्र सबसे ज्यादा है। जिस देश में हनुमान के असंख्य मंदिर हैं। इसी देश में एक ऐसा गांव भी है जहां हनुमान की मूर्ति या फोटो तो दूर पूजा करना भी...

अर्जुन से नहीं कर्ण से करना चाहती थी द्रौपदी विवाह, पढ़िए महाभारत की अनोखी प्रेम कहानी

‘नहीं देखा था किसी ने बचपन उसका, पांच पति होते हुए भी जिसे मिल न पाई सुरक्षा, जीवन भर तरसी एक बूंद प्रेम को’. इन विशेषताओं को पढ़कर कोई भी कल्पना कर सकता है कि हम महाभारत की सबसे चर्चित पात्र...

रावण से बड़ा ज्ञानी धरती पर नहीं हुआ, साबित करती हैं ये 10 अद्भुत बातें

रामायण में सत्य पर असत्य की विजय का पाठ हमें हमेशा से ही पढ़ाया जाता रहा है. राम और रावण के बीच का युद्ध, जिसमें राम सत्य के प्रतीक थे तो वहीं रावण असत्य का पताका हाथ में लिए था. हमें...

जैसे मां सीता का जन्म अचानक धरती से हुआ, उनके पिता का जन्म भी बड़े रहस्यमयी तरीके से हुआ था

देवी सीता को तो दुनिया जानती है और उनकी पूजा करती है। उनके जन्म को लेकर कहा जाता है कि वे धरती से उत्पन्न हुईं। मान्यताएं ऐसी भी हैं कि वो रावण की पुत्री थीं। आपको ये जानकर हैरत होगी कि...

जानिए कैसे हुआ भागीरथी गंगा से पहले,”पंच गंगाओं “का धरती पर अवतरण

हिन्दू धर्म ग्रंथो के अनुसार इस धरती पर भागीरथी गंगा के आने से पहले ही पंच गंगाओं का धरती पर अवतरण हो चूका था। इन पंच गंगाओं का जहाँ अवतरण हुआ था वो जगह “पंचनद तीर्थ” कहलाती है। आइए जानते है...

जब सुदर्शन चक्र के भय से भागे दुर्वासा – Rishi Durvasa & Sudarshan Chakra Hindi Story

अम्बरीष (Ambarish) बड़े धर्मात्मा राजा थे। उनके राज्य में बड़ी सुख शांति थी। धन, वैभव,राज्य, सुख, अधिकार, लोभ, लालच से दूर निश्चिन्त होकर वह अपना अधिकतर समय ईश्वर भक्ति में लगाते थे। अपनी सारी सम्पदा, राज्य आदि सब कुछ वे भगवान...