केक्‍टसमैन, घर में 100 से अधिक प्रजातियों का संरक्षण

0
110

अमूमन देखा जाता हैं कि लोग फूलों को तो बेहद पंसद करते हैं लेकिन कांटों में कोई अपना समय बर्बाद करना नहीं चाहता। लेकिन एक व्यक्ति ऐसा भी हैं जो ना केवल इन कांटो से बेइंतहां मोहब्बत करता हैं।

हम बात कर रहे हैं लेकसिटी उदयपुर के हरिओम की। इनके पास पिछले तीन दशक से कांटेदार केक्टस का उनके पास नायाब कलेक्शन हैं। जिसके चलते लोग उसे केक्टस मैन के नाम से पुकारते हैं।

30 साल से सार संभाल
प्यार के अहसास के साथ हाथों से गमलों में लगे कांटेदार केक्टस को संजों रहे हरिओम प्रकाश को लेकसिटी उदयपुर के अधिकांश लोग केक्टर मैन के नाम से जानते हैं और आखिर जाने भी क्यूं ना।दरअसल हरिओम प्रकाश के पास करीब 100 से ज्यादा प्रजातियों के नायाब कैक्टस के पेड हैं जिनमें से कुछ की उम्र तो करीब 15 से 20 वर्ष तक की हैं।

केक्‍टस प्रेम में छिपा है संदेश

अपने जीवन के करीब 3 दशक से भी ज्यादा इन कैक्टस के पेडों के संरक्षण में लुटा चुके हरिओम प्रकाश से जब फूलों को छोड कांटो से प्यार करने की वजह जाननी चाही तो उनका जबाब था कि फूल और कांटे दोनों ही प्रकृति के बनाई हुई कृति हैं ऐसे में किसी एक से प्रेम या नफरत उनकी समझ से परे हैं।यही नही वे लोगों के मन में प्रकृति कि बनाई हुई हर कृति के प्रति प्रेम के भाव देखना चाहतें हैं।