किस पोजीशन में सोना है आपके लिए अच्छा जानिए ,कहि आप गलत तरीके से तो नही सो रहे

नींद कितनी महत्वपूर्ण है ये आप सिर्फ एक पूरी रात जागकर देख सकते है | और सोना किसे पसंद नही सोने में जो मज़ा है वो किसी और चीज़ में कहा , और सबसे अछि बात तो यह है की सोने से आपकी सेहत भी सही रहती है परन्तु क्या आप सोने का सही तरीका जानते है ? आज हम आपको बस सोने के अलग अलग पोजीशन के फायदे और नुकसान बातायेंगे …….

पीठ के बल सोना ~
सोने के लिए सबसे अच्छा तरीका होता है पीठ के बल सोना। इस अवस्था में आपका सिर, गर्दन और रीढ़ की हड्डी अपनी प्राकृतिक अवस्था में रहती है। अच्छी और सेहतमंद नींद के लिए इस अवस्था में सोना लाभदायक होता है।

सेहत का स्टारफिश तरीका~
सोने के लिए स्टारफिश तरीका भी बहुत अच्छा है। इस अवस्था में बेड पर पीठ के बल लेटकर दोनों पैरों को फैला लें। अब दोनों हाथों ऊपर की तरफ अपने फोल्ड करके सिर के पास रखें। इससे आपके चेहरे की झुर्रियां ख़त्म होती है और जब आप जागते हैं तो चहरे पर अलग ही निखार होता है।

करवट लेकर सोना~
एक तरफ करवट लेकर सोना भी काफी लाभदायक होता है खासकर उन लोगों के लिए जिन्हें सांस लेने में परेशानी होती है और जिन्हें नींद में खर्राटे आते हैं। इस अवस्था में सोने से गर्दन और पीठ दर्द में भी आराम मिलता है।

किस तरफ करवट लें?
करवट लेकर सोना अच्छा होता है लेकिन ये ध्यान रखें कि बाई तरफ करवट लें। दाई ओर करवट लेने से दिल पर दबाव पड़ता है जो सेहत के लिए ठीक नहीं है।

पेट के बल लेटना~
पेट के बल लेटकर कभी नहीं सोना चाहिए। इस अवस्था में सोने से रीढ़ की सिर, गर्दन और रीढ़ की हड्डी अपनी प्राकृतिक अवस्था में नहीं रहती है। इस प्रकार सोने से शरीर में सुन्न हो सकता है या फिर दर्द होता है, जो सेहत के लिए ठीक नहीं है। इससे जोड़ों का दर्द भी हो सकता है।

ऐसी अवस्था में सोना सबसे खतरनाक~
करवट लेकर घुटनों को चिन से सटाकर या सीने की तरफ मोड़कर सोना सेहत के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक होता है। इससे गर्दन और पीठ का दर्द तो होता ही है साथ ही ब्रेस्ट पर भी बुरा असर पड़ता है।

YOU MAY LIKE