क्या आप डेंगू बुखार की इन जटिलताओं के बारे में जानते हैं?

0
34
डेंगू बुखार एक वायरल एडीज एजिप्टी मच्छर से फैलने वाला संक्रमण है। अगर इस बुखार में समय से इलाज ना मिले तो मरीज की हालत गंभीर हो सकती है।

इसलिए ये बेहद जरुरी है कि डेंगू के मरीज को समय से इलाज मिलना जरुरी है नहीं तो डेंगू रक्तस्रावी बुखार और डेंगू आघात सिंड्रोम जैसी जटिलतायें पैदा हो सकती हैं जिससे फेफड़े, जिगर या दिल को नुकसान पहुंच सकता है।

डेंगू रक्तस्रावी बुखार
डेंगू रक्तस्रावी बुखार अगर गंभीर हो जाए तो जानलेवा भी हो सकता है। बहुत से मामलों में ये बढ़े हुए जिगर (इनलार्ज लीवर) का कारण हो सकता है और गंभीर मामलों में ये रक्तचाप में अचानक गिरावट जिसे की डेंगू आघात सिंड्रोम कहा जाता है का कारण भी हो सकता है।

डेंगू रक्तस्रावी बुखार के रोगियों में निम्न लक्षण विकसित हो सकते हैं-

गंभीर पेट दर्द

अपनी नाक, मुंह, मसूड़ों या त्वचा रगड़ से रक्त स्राव

खून की या बिना खून के लगातार उल्टी होना

स्वीटीनेस

काला मल

भूख में कमी

थकान

ज्वाइंट या मांसपेशियों में दर्द

डेंगू आघात सिंड्रोम

डेंगू आघात सिंड्रोम में त्वचा पर खून के धब्बे के रूप में छोटे और त्वचा के नीचे खून के बड़े पैच दिख सकते हैं। ऐसे मरीजों में सदमे के लक्षणों के साथ निम्न लक्षण विकसित हो सकते हैं-

रक्तचाप में अचानक गिरावट

एक कमजोर है, लेकिन तेजी से नाड़ी

साँस लेने में कठिनाई

अभिस्तारण पुतली

शीत, चिपचिपी त्वचा

शुष्क मुँह

बेचैनी

एक त्वरित और उचित चिकित्सा उपचार इससे निपटने में मददगार साबित हो सकते हैं। यदि आपमें डेंगू या गंभीर डेंगू के कोई भी लक्षण है, तो तत्काल चिकित्सा सहायता से इस बीमारी से संबंधित जटिलताओं के जोखिम को कम कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here