इन 8 वैज्ञानिकों ने अपने आविष्कारों की कीमत अपनी जान दे कर चुकाई

0
48
आवश्यकता ही आविष्कार की जननी होती है. जैसे-जैसे हमारी ज़रूरतें बढ़ती गईं वैसे-वैसे वैज्ञानिकों ने हमारे लिए आविष्कार किये और अभी तक करते आ रहे हैं. आधुनिक और तकनीक से संबंधित जो भी चीजें हम आज देखते हैं उसमें विश्व के उन महान वैज्ञानिकों का बहुत बड़ा योगदान है जिन्होंने ये आविष्कार किए. लेकिन आपको ज़रा सा भी अहसास नहीं होगा कि इन आविष्कारों के पीछे कितनी मेहनत लगती है. कभी-कभी तो इन लोगों को जान से भी हाथ धोना पड़ता है. आइए आपको ऐसे ही वैज्ञानिकों से आज मिलवाते हैं जिनकी शोध के दौरान मौत हो गई.

1. मैरी क्यूरी (आविष्कार-रेडियम)

विख्यात भौतिकविद और रसायनशास्त्री मैरी क्यूरी को दुनिया में मैडम क्यूरी के नाम से भी जाना जाता है. अधिक समय रेडियो सक्रीय पदार्थों के बीच रहने के कारण मैरी के शरीर में ख़ून की कमी आ गई और 4 जुलाई 1934 को एप्लास्टिक अनीमिया के कारण का उनका निधन हो गया.
Source: Newsed

2. विलियम बुलोक (आविष्कार-प्रिंटिंग प्रेस)

अमेरिकी रिसर्चर विलियम बुलोक को रोटरी प्रिंटिंग प्रेस के आविष्कार के लिए जाना जाता है. एक बार जब वह अपनी नई प्रिटिंग मशीन को ठीक कर रहे थे तो उसी दौरान वह मशीन में बुरी तरह फंस गए. इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए. ऑपरेशन के दौरान पेंसेल्वेनिया में 12 अप्रैल 1867 को मौत हो गई.
Source: Jagran

3. ओटो लिलिएंथाल (आविष्कार- ग्लाइडिंग की अवधारणा)

वह ओटो लिलिएंथाल ही थे जिन्होंने ग्लाइडिंग की अवधारणा को शुरू किया था.9 अगस्त 1986 में लिलिएंथाल ने पक्षियों की भांति उड़ने का प्रायोग किया. वह उड़ तो गए, लेकिन शरीर का संतुलन बनाए न रख सकने के कारण 17 मीटर की उंचाई से निचे गिर गए, जिससे उनकी मौत हो गई.
Source: Jamiiforums

4. एलेक्ज़ेंडर बोगडनवो (आविष्कार- रक्त हस्तांतरण थैरेपी)

एलेक्जेंडर बोगडनवो एक प्रसिद्ध चिकित्सक, दार्शनिक तथा अर्थशास्त्री थे. रक्त हस्तांतरण थैरेपी से उन्होंने कई लोगों का जीवन सरल किया. इसी उद्देश्य से उन्होंने अपनी लम्बी आयु के लिए इसका प्रयोग करने की ठान ली.बोगडनवो ने एक मरीज का रक्त अपने शरीर में हस्तांतरित किया. जिस मरीज से उन्होंने रक्त लिया, उसे मलेरिया और टीबी रोग था. रक्त को लेने के साथ ही एलेक्ज़ेंडर के शरीर में संक्रमण फैल गया और उनकी मौत हो गई.
Source: Listelist

5. हेनरी स्मोलिंस्की (फ्लाईंग कार)

पेशे से इंजीनियर हेनरी स्मोलिंस्की ने उड़ने वाली कार का सपना देखा था. अपनी खुद की कम्पनी स्थापित कर हेनरी ने 1973 में उड़ने वाली कार बनाई, जिसका नाम AVE Car रखा. उन्होंने अपनी कार पर हवाई जहाज का डिज़ाइन जोड़ा. एक टेस्ट के दौरान यह फ्लाईंग कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई और जिसमें उनकी मौत हो गई.
Source: Wikipedia

6. हेनरी (आविष्कार- प्रकाश स्तंभ)

हेनरी पहले एड्डीस्टोन प्रकाश स्तंभ के निर्माता थे. एक बार जब वह प्रकाश स्तंभ की क्षमता को जांच रहे तो उसी दौरान तूफान आया. दुर्भाग्यवश वह प्रकाश स्तंभ टिक न सका और वह नीचे गिर गया, जिसमें दब कर पांच लोगों की मौत हो गई. उसमें हेनरी भी शामिल थे.
Source: Irishtimes

7. फ्रांज रिचेल्ट (आविष्कार- विंगसूट)

ऑस्ट्रिया में जन्में फ्रांज रिचेल्ट स्वयं का डिज़ाइन किया हुआ पैराशूट (विंगसूट) को टेस्ट करना चाहते थे. इसके लिए उन्होंने 4 फरवरी 1912 को एफिल टॉवर से छलांग लगाई लेकिन दुर्भाग्यवश पैराशूट काम न कर सका और उनकी जान चली गई. कहा जाता है कि एफिल टॉवर से छलांग लगाते समय फ्रांज रिचेल्ट को उनके दोस्तों और दर्शकों ने रोका भी था.
Source: Aajtak

8. थॉमस मिडग्ले (स्ट्रिंग और पुली की प्रणाली)

थॉमस मिडग्ले मैकेनिकल इंजीनियर थे. उन्होंने रस्सी और घिरनी प्रणाली का आविष्कार किया जो लोगों को बिस्तर से उठने में मदद करता है. लेकिन किसको पता था उनका यह आविष्कार ही उनकी मृत्यु का कारण बनेगा.
Source:News
यह सही है कि मानव जीवन को सरल बनाने के लिए वैज्ञानिक दिन-रात मेहनत कर रहे हैं. इससे लोगों की ज़िंदगी आरामदायक भी हुई है और समय की बचत भी. बदले में इन वैज्ञानिकों ने अपनी पूरी ज़िंदगी आविष्कार में ही लगा डाली. कभी-कभी तो इनको मौत ने गले लगा लिया. ऐसे वैज्ञानिकों को हमारा सलाम. आप आर्टिकल को पढ़ें और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें.
YOU MAY LIKE
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here