आखिर हम क्यों नही हो सकते है अमर , जानिए इसके पीछे का वैज्ञानिक रहस्य

क्या आप ने कभी सोचा है की हमारी उम्र क्यों बढ़ती है? और ऐसा क्या होता है की हर व्यक्ति को जन्म के बाद मरना ही पड़ता है इसके पीछे का कारण है एजिंग यानी कि उम्र का बढ़ना लेकिन सवाल ये उठता है कि हमारा शरीर हमेशा ऐसा ही जवान क्यों नहीं रह सकता, यानी कि हम अमर क्यों नहीं हो सकते और आखिर क्यों हमारे शरीर में एजिंग होती है। आईये जानते है इन सभी सवालों के जवाब …..

विज्ञान और अमरता ,गज़ब दुनिया
विज्ञान और अमरता ,गज़ब दुनिया

हमारे शरीर में दो तरह की सेल्स यानि की कोशिकाएं होती हैं। जिनमें से एक होते हैं फंक्शनिंग सेल और दूसरे होते हैं नॉन फंक्शनिंग सेल्स। यही फंक्शनिंग सेल्स हमें जिंदा रखती है, लेकिन जब धीरे-धीरे नॉन फंक्शनिंग सेल्स हमारे शरीर में जमा होने लगती है, तब हमारी उम्र कम होने लगती है। पहले तो ये सेल्स जल्द ही मर जाती हैं और हमारे शरीर को कुछ खास इफेक्ट नहीं कर पाती हैं लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता है, यह हमारे शरीर ज्यादा मात्रा में जमा होने लगती है और इनके मरने की रफ्तार भी धीमी हो जाती है। धीरे-धीरे इनकी मात्रा इतनी ज्यादा हो जाती है कि ये फंक्शनिंग सेल्स की जगह लेने लगती हैं और उनको कम करती जाती हैं।

विज्ञान और अमरता ,गज़ब दुनिया
विज्ञान और अमरता ,गज़ब दुनिया

इसी वजह से हमारे शरीर ब्रेक डाउन होने लगता है। लगभग 1 लाख लोग बुढ़ापे की वजह से मरते हैं। गेरोंटोलॉजिस्ट ऑब्रे दी ग्रे ने एक थ्योरी में बताया कि उनका लक्ष्य ऐसे मेथड का पता लगना है जो इस प्रोसेस को धीमा कर सके या फिर रोक सके, जिससे इंसान अमर हो सके। वर्ल्ड में ऐसे बहुत सारे एक्सपेरिमेंट्स कंडक्ट किए जा रहे हैं। साथ ही ये कोशिश भी की जा रही है कि किसी इंसान के दिमाग को कंप्यूटर में डाल कर उसे अमर बनाया जा सके।

विज्ञान और अमरता ,गज़ब दुनिया
विज्ञान और अमरता ,गज़ब दुनिया

अब जरा सोचिए कि अगर ऐसा हो जाता है कि तो इंसान के दिमाग की सारी यादें सारे एक्सपीरियंस को किसी कंप्यूटर में आसानी के अपलोड किया जा सकेगा और शायद ये भी किसी दिन मुमकिन हो कि हम उन नॉन फंक्शनिंग सेल का बढ़ना रोक पाए और इंसान अमर हो जाए।