भारत की खुफिया एजेंसी RAW से जुड़े ये 5 तथ्य आपको जरूर जानने चाहिए…

0
2752

आप सब ने “एक था टाइगर” फिल्म जरुर देखी होगी ! अरे वही फिल्म जिसमे सलमान खान था कुछ याद आया जिसमे सलमान खुफिया जासूस होता है और फिर एक दिन उसे पाकिस्तान की लड़की से प्यार हो जाता है।

आप ने कई फिल्मो में RAW का एजेंट देखा होगा, कभी आप ने सोचा की ये  RAW क्या होती

है ? RAW  एजेंट कोन  होता है ? केसे बनता है एक RAW एजेंट ? अगर आप ने सोचा है तो इस तरह के कई सवाल आप के दिमाग में होंगे लेकिन उनके जवाब आप को नहीं मिले होंगे ।

तो आइये आज हम जानते है RAW के बारे में…….

 RAW का गठन कब हुआ था ? 

भारत – चीन 1962 और भारत – पाक 1965 के युद्ध के बाद भारत की सुरक्षा के लिए एक ऐसी इंटेलिजेंस एजेंसी को  गठित करने की जरूरत लगने लगी जो भारत की सुरक्षा को मजबूत कर सके । इसके चलते इंदिरा गांधी की सरकार में 21 सितंबर 1968 को RAW का गठन किया गया था

RAW के पहले डायरेक्टर

21 सितंबर 1968 को RAW के गठन के बाद पहले डायरेक्टर रामेश्वर नाथ काओ को बनाया गया जिन्होंने 1971 में पाक को हरा कर बांग्लादेश को आजाद कराया और सिक्किम को भारत का अभिन्न अंग बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी ।

RAW का सबसे होनहार एजेंट ‘ब्लैक टाइगर’

एक थिएटर आर्टिस्ट स्वर्गीय रविंद्र कौशिक जो अपना रूप बदले में माहिर थे उनको एक सीक्रेट मिशन के तहत 1975 में पाकिस्तान भेजा गया था । ये रॉ के सबसे काबिल एजेंट में से एक थे जिनको “ब्लैक टाइगर” के नाम से जानते थे । इनका जन्म राजस्थान  के श्री गंगानगर में 11 अप्रैल 1952 को हुआ था ।

स्वर्गीय रविंद्र कौशिक अपने मिशन को पूरा करने के बाद उन्होंने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया और अपना नाम अहमद शाकिर रख लिया और पाक आर्मी जॉइन कर ली । उसके बाद उन्होंने 1979 से लेकर 1983 तक कई महत्वपूर्ण जानकारिया और सूचनाये भारत को भेजने लगे थे ।

कहते है की कभी कभी वक्त भी धोखा दे जाता है और कुछ इस तरह हि हुआ स्वर्गीय रविंद्र कौशिक के साथ एक दिन पाक आर्मी ने उन्हें पकड़ लिया और पकड़ने के बाद उन पर कही जुल्म ढाए ।  पाकिस्तानी की कोर्ट ने  उन्हें आजीवन कैद की सजा सुनाई और मुल्तान की सेंट्रल जेल में डाल दिया गया ।  सन 1999 में दिल का रोग होने के कारण से उनकी मृत्यु हो गयी और भारत ने उस दिन एक होनहार और काबिल अफसर को हमेशा हमेशा के लिए खो दिया  । उनकी इस वीरता और साहस के लिए ने उनको  “ब्लैक टाइगर” के ख़िताब से नवाजा गया ।

 RAW एक स्वतंत्र संस्था

RAW एक विंग है जो अपनी रिपोर्ट सीधा प्रधानमंत्री को भेजती है और यहाँ पर RTI का कानून लागु नहीं होता है क्यों की ये देश के सुरक्षा मामलों से जुडी हुई एजेंसी है ।

कई बड़े सीक्रेट मिशन को अंजाम दे चुका है RAW

RAW गुप्त सूचनाओ के साथ साथ Smiling Buddha, Peaceful Nuclear Explosion’ जेसे कई बड़े सीक्रेट मिशन को अंजाम दे चुका है ।

 पाक की कई नापाक साजिशो पर भी पानी फेर चुका है RAW

आप ने सुना हो तो 1971 में इंडियन एयरलाइन्स का एक विमान हाईजैक हो गया था, वो RAW का ही एक  मिशन “गंगा ” था और जिसका मकसद पाक के विमानों को भारतीय सीमा से बाहर रखना था और इसका सीधा फायदा भारत को पाक के खिलाफ जीत के साथ मिला था।

सरगना हाशिम कुरैशी नाम का एक आंतकी जिसको Al-Fatah आतंकवादी संगठन में ट्रेनिंग दी गयी थी जिसका मकसद राजीव गाँधी को मारना था लेकिन  BSF द्वारा गिरफ्तार उसे पहले हि पकड लिया था

source :scoopwhoop

YOU MAY LIKE
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here