अवैध संबंध बनाने होटल गए थे चाची-भतीजा, कमरे में दोनों ने ऐसी रात गुजारी जिसकी सुबह ने सबको हिला दिया

26 जून को वाराणसी में हुए एक शख्स के मर्डर का खुलासा पुलिस ने गुरुवार को कर दिया। मर्डर को अंजाम मृतक की बड़ी बहन और जीजा ने किया। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

26 जून को वाराणसी के वैष्णो बिहार कॉलोनी में मैदान के पास बने खंडहर नुमा कमरे में 8वीं क्लास के छात्र सुजीत की सिर कूची लाश मिली थी। रोहनिया थाने के एसओ क्षितिज त्रिपाठी ने बताया, मुखबिरों की सूचना पर दोनों आरोपियों को एसएमएस स्कूल के पास से पकड़ा गया, दोनों भागने के फिराक में थे।

पूछताछ में संगीता ने बताया, ”3 साल पहले संजय ने मेरे साथ पहली बार छेड़खानी की थी, मैंने परिवारवालों से इसकी कम्पलेन भी की थी। लेकिन लोगों ने जीजा-साली का रिश्ता मजाक का होता है, कहकर टाल दिया।

बाद में संजय मुझे अच्छा लगने लगे। हम दोनों एक-दूसरे के काफी करीब आ गए। इस बीच छोटे भाई सुजीत ने मुझे कई बार जीजा संजय के साथ आपत्त‍िजनक स्थ‍िति में देख लिया था। उसने हमसे कहा था कि आप लोग मिलना बंद कर दो, नहीं तो मम्मी-पापा से कह दूंगा। हम काफी डर गए थे। इसलिए साथ मिलकर सुजीत के मर्डर का प्लान बनाया। इस दौरान जीजा ने सुजीत से माफी मांगकर बातचीत शुरू कर दी।

26 जून को पहले संजय ने बीयर पी। उसके बाद नशे की हालत में भाई को बहला-फुसलाकर वैष्णो बिहार कॉलोनी ले आया। हमने पहले से ही वहां पर कमरा किराए पर ले रखा था। सुजीत के आते ही मैंने और संजय ने भाई के सिर पर ईंट से वार करके उसे मार डाला।

Add a Comment