इन 21 ‘ब्रह्मास्त्र’ से घबराता है चीन, भारत नहीं रहा अब 1962 जैसा !

6. अग्नि-5: इसे किलर मिसाइल भी कहा जाता है। अग्नि-5 इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल है जिसकी मारक क्षमता 8 हजार किलोमीटर तक है और ये एक हजार किलो तक का परमाणु हथियार ले जाने की भी ताकत रखती है।

अग्नि-5
अग्नि-5

7. फॉल्कन अवॉक्स: अवॉक्स यानी एयरबोर्न अर्ली वॉर्निंग एंड कंट्रोल सिस्टम। इसे दुनिया का सबसे आधुनिक AWACS माना जाता है। इसके लिए भारत-इजराइल के बीच 2004 में समझौता हुआ था। इस रडार पर 360 AESA यानी एक्टिव इलेक्ट्रोनिकली स्कैनिंग अरै हैं ये किसी भी दूसरे रडार से दस गुना तेज और पहले अपने दुश्मन की खबर देता है।

अवॉक्स यानी
अवॉक्स यानी

8. INS विक्रांत: ये देश में बना पहला एयरक्राफ्ट कैरियर है। ये 262 मीटर लंबा, 60 मीटर चौड़ा और 40 हजार मीट्रिक टन वजन ढोने में सक्षम है, इसका डिजाइन ऐसा बनाया गया है ताकि MiG-29K को यहां से ऑपरेट किया जा सके। एक बार में आईएनएस विक्रांत 30 एयरक्राफ्ट ले जाने में सक्षम है।

INS विक्रांत
INS विक्रांत

9. बराक 8: एंटी मिसाइल बराक 8 सेना के लिए रक्षा कवच की तरह है। ये लंबी दूरी का एंटी एयर और एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम है। इसे इजराइल के साथ मिलकर तैयार किया गया है।

बराक 8
बराक 8

10. ग्लाइड बम: वो बम जो वायुसेना के लिए अचूक अस्त्र होगा। इसके जरिए निशाना तय कर बम गिरा सकेंगे। ये बम लड़ाकू विमान की मार को और सटीक करेगा। इसके अगले साल के अंत तक बनाने की तैयारी है।

ग्लाइड बम
ग्लाइड बम

One Comment

Add a Comment