दुल्हन ने सुहागरात में बताया नामर्द, सच्चाई जानकर पुलिस भी हो गई हैरान-

एक नई-नवेली दुल्हन ने शादी के दूसरे दिन ही अपने पति को नामर्द बताकर थाने में शिकायत की थी लेकिन जब दूल्हे की डॉक्टरी जांच हुई तो वह मर्द निकला।दुल्हन का आरोप था कि जब सुहागरात पर वह दूल्हे के सामने गई तो इस बात से उसके होश ही उड़ गए। उनसे 20 लाख रुपए का दहेज भी लिया और शादी में खर्च भी कराया। जबलपुर के घमापुर क्षेत्र के लालमाटी एरिया में रहने वाली साधना द्विवेदी द्वारा शादी के दूसरे दिन ही दूल्हे अभिषेक तिवारी के नामर्द होने के सनसनीखेज आरोप के मामले में पुलिस द्वारा कराई गई मेडिकल जांच में अभिषेक तिवारी को मर्द बताया गया है।

पुलिस द्वारा विक्टोरिया अस्पताल के तीन डॉक्टरों के मेडिकल बोर्ड द्वारा कराई गई मेडिकल जांच में यह खुलाआ हुआ है कि अभिषेक तिवारी में पिता बनने की क्षमता है।  इस मामले में थाना प्रभारी दिलीप श्रीवास्तव ने जानकारी दी है कि साधना द्विवेदी ने शिकायत में आरोप लगाया था कि 5 जून को शादी के दूसरे दिन ही पता चला कि अभिषेक तिवारी नामर्द है। उसके कारण वह अपने मायके लौट आई।

साधना द्विवेदी द्वारा दी गई शिकायत में यह भी आरोप लगाए गए थे कि उसके परिवारजनों का शादी में 20 लाख रुपये का खर्च हुआ है। इस मामले में विवाह में हुआ खर्च वापस दिलाए जाने की भी मांग की गई थी। इस मामले में साधना के परिजनों ने एसपी को भी ज्ञापन देकर जांच में लगने वाली देरी पर आक्रोश व्यक्त करते हुए जल्द ही जांच की मांग की थी।

इस मामले में पुलिस ने अभिषेक द्वारा अपनी खुद के स्तर पर दी गई मेडिकल रिपोर्ट को सही नहीं माना था और उसके मर्द होने एवं बच्चे पैदा करने की क्षमता की जांच मेडिकल बोर्ड से कराई गई। इसमें साधना द्विवेदी द्वारा लगाए गए आरोप सही नहीं पाए गए हैं।

दुल्हन साधना द्विवेदी का आरोप था कि उसका पति अभिषेक तिवारी जो कि किन्नर था उसके परिवार जनों ने यह बात छुपाई तथा उनसे 20 लाख रुपये दहेज तथा शादी में खर्च करा लिये । सुहागरात के दिन जब यह राज खुला तो साधना द्विवेदी ने अपने घरवालों को मामले की जानकारी दी और फिर 6 जून को होने वाला रिसेप्शन कैंसल करना पड़ा । इससे दोनों पक्षों में दो दिन से यह बात झगड़े की वजह बन गई कि दुल्हन पक्ष के साथ धोखाधड़ी क्यों की गई। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद जांच शुरू कर दी ।

इस मामले में घमापुर पुलिस ने बताया था कि पटेल नगर की रहने वाली साधना द्विवेदी की शादी इंद्रा नगर में रहने वाले रामसंजीवन तिवारी के पुत्र अभिषेक तिवारी के साथ तय हुई थी। उनके परिवार द्वारा इस साल के मार्च माह में शादी तय की गई थी। 5 अप्रैल को सगाई हुई थी। सगाई में ही 51 हजार नकद, 16 हजार की अंगूठी के साथ 10 हजार के कपड़े और होटल में खाने का बिल आदि करीब एक लाख रुपये खर्च साधना के ससुराल वालों ने कराया था। उसके बाद 2 जून को तिलक समारोह का आयोजन किया गया । इसमें 15 लाख रुपये मांगे गए और बड़ी मुश्किल में लड़के के पिता रामसंजीवन तिवारी 11 लाख रुपये में माने ।