माता पिता से छिपकर ये काम करती थीं सनी लियोनी , जिसे जानकर आप भी चौंक जायेंगे

सनी लियोनी के बारे में यह बात तो सभी जानते हैं कि उनका असली नाम किरनजीत कौर वोहरा है, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि उनका नाम सनी लियोनी कैसे हुआ? सनी ने इस बात का खुलासा किया था कि जब वो पहली बार शूट के लिए गई तब मुझे नहीं पता था कि मुझे अपना असली नाम लेना चाहिए या नहीं इसलिए जब मुझसे मेरा नाम पूछा गया तो मैंने सनी बोल दिया.

बता दें कि सनी लियोनी के भाई का नाम सनी (संदीप वोहरा) है. सनी ने कहा मैं नहीं जानती कि मैंने ये नाम क्यों लिया. उस दिन फिर जब मैं घर वापिस गई तो वो यह बात जानकर हैरान रह गया और उसने कहा कि यह तो मेरा नाम है.

सनी ने अपने माता- पिता से अपने पॉर्न स्टार होने की बात छिपाई थी. सनी ने बताया कि जब मैंने पेंटहाउस मैगजीन के लिए पहली बार पोज दिया तब मेरे माता पिता जिंदा थे. मैंने उन्हें अपने काम के बारे में नहीं बताया था ना ही उन्हें कभी मेरे काम के बारे में पता चला.

सनी ने बताया कि जब मेरे पिता को इस बारे में पता चला तो उन्होंने कहा कि तुम्हें ऐसा कदम उठाने से पहले हमसे पूछना चाहिए था, लेकिन अब तुमने इसे चुन ही लिया है तो इस काम में अपना बेस्ट देना.

उन्होंने बताया कि मेरे माता पिता को कभी मेरे काम के बारे में पता भी नहीं चला क्योंकि मैं आसपास बिकने वाली सभी मैगजीन दुकानों से खरीद लिया करती थी.

अपनी डॉक्यूमेंट्री में सनी ने बताया कि उन्होंने पहली बार अपने पेरेंट्स को अपने अडल्ट इंडस्ट्री में काम करने के बारे में तब बताया जब मैंने पेंटहाउस मैगजीन का ‘पेट ऑफ द ईयर’ अवॉर्ड जीता. सनी ने बताया कि इसकी जीत का ईनाम थी 1 लाख डॉलर जो किसी लॉटरी से कम नहीं था. जब मैंने अपनी मां को इसके बारे में बताया तो उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या तुमने कपड़े उतारे?

सनी ही नहीं उनके पति डेनियल वीबर के पेरेंट्स को भी नहीं पता था कि डेनियल क्या काम करते हैं. इस डॉक्यूमेंट्री में सनी ने बताया है कि उनके पति ने भी अपने परिवारवालों से यह बात छिपा कर रखी थी कि वो क्या काम करते हैं.

जब सनी की तस्वीर पेंटहाउस मैगजीन के कवर पर छपी तब लोगों ने उनकी काफी आलोचना की थी. लोग उन्हें कहते थे उन्होंने भारतीय सभ्यता को शर्मसार कर दिया था. सनी ने बताया कि लोग मुझे नफरत भरी नजरों से देखते थे. वो अक्सर मुझे कहते थे कि मैं इंडियन नहीं हूं. मैं औरत नहीं हूं और मैंने पूरे कल्चर को शर्मसार कर दिया था. उस समय सनी की उम्र केवल 19 साल थी.

सनी ने बताया कि लोग पहले अक्सर मुझसे पूछते थे कि क्या मैं प्रॉस्टिट्यूट हूं?

उनका कहना है कि शायद ऐसा करियर चुनने की वजह से ही कनाडा की इंडियन कॉम्यूनिटी के लोग मुझसे कोई संबंध नहीं रखना चाहते थे, लेकिन जब मैं भारत वापस आई तब यहां लोगों ने मुझे बहुत प्यार दिया और अपने परिवार का हिस्सा बनाया.

YOU MAY LIKE