भारत की इन 10 जगहों को कहा जाता है मौत की घाटी, यहां दिन में भी दिखती हैं आत्माएं

भारत में करीब 30 ऐसी जगहों को चिन्हित हैं जहां पैरानॉर्मल एक्टिविटी या किसी अदृश्य शक्ति का अहसास किया गया है। लेकिन जो 10 जगह हम आपको बताने जा रहे हैं ये किसी मौत की घाटी से कम नहीं।

किस्सो कहानियों में तो सुना होगा कि कोई इलाका, घर, हवेली, किले में भूत देखे गए हैं। लेकिन हकीकत में ऐसा किसी ने देखा नहीं होगा। भारत में करीब 30 ऐसी जगहों को चिन्हित हैं जहां पैरानॉर्मल एक्टिविटी या किसी अदृश्य शक्ति का अहसास किया गया है। ये हैं वे जगहें जहां प्रशासन ने रात में जाने पर रोक लगा रखी है।

जटिंगा घाटी (असम)-

(image: blogspot) जटिंगा घाटी को मौत की घाटी कहा जाता है. यहां पर पक्षी आकर खुद ही आत्महत्या कर लेते हैं। यह घटना बसंत के मौसम में होती है। दूर-दूर से आए पक्षी यहां पर शाम 7 बजे से 10 बजे के बीच अचानक गिरने लगते हैं। आजतक कोई नहीं जान पाया कि ऐसा क्यों होता है।

भानगढ़ का किला-

राजस्थान के अलवर में स्थित भानगढ़ का किला भारत के सबसे डरावने किले के रूप में बदनाम है। यहां पर रात में किसी को नहीं जाने दिया जाता है। हालांकि पुरातत्व शास्त्री इसे अफवाह मानते हैं। लेकिन कुछ लोगों का मानना है कि आज से कई साल पहले यहां की राजकुमारी पर किसी तांत्रिक का दिल आ गया था। उसने राजकुमारी को वश में करने के लिए जादुई पानी पिलाने की योजना बनाई लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाता है। इसी चक्कर में उसकी मौत हो जाती है। उसी दिन से यह किला तबाह हो गया और आज भी राजकुमारी और उस तांत्रिक की आत्मा यहां भटकती रहती है।

टनल नंबर 33/103, शिमला-

कालका से शिमला जाने वाली ट्वाय ट्रेन के रास्ते पड़ने वाली एक सुरंग नंबर 33/103 को भुतहा माना जाता है। इस जगह के बारे में सैकड़ों कहानियां हैं। लोगों का कहना है कि इस टनल के पास से जब ट्रेन गुजरती है तो एक ब्रिटिश इंजीनियर की आवाज आती है। हालांकि उसने आज तक किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया है। (image: screenshot, you tube)

वाडा फोर्ट, पुणे-

वाडा फोर्ट, पुणे
वाडा फोर्ट, पुणे

इस किले को 1730 में बनवाया गया था। यह किला खूनी राजनीति का शिकार हो गया था। पेशवा बालाजी बाजीराव के 17 के बेटे का उसके ही चाचा ने कत्ल कर दिया था। कहते हैं कि आज भी उसके रोने की आवाजें आती हैं।

फिरोज शाह कोटला-

फिरोज शाह कोटला
फिरोज शाह कोटला

14 वीं सदी में बनाया गया दिल्ली का यह किला भूतों का अड्डा माना जाता है। हालांकि इनके बारे में कहा जाता है वह काफी मददगार हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां पर आप एक कागज में अपनी समस्या लिखकर जाइए यहां के भूत आपकी खुशी-खुशी मदद करेंगे।

संजय वन, दिल्ली-

700 एकड़ में फैले इस वन में कई कब्रे हैं। इसके बारे में कहा जाता है कि सफेद साड़ी पहने एक महिला यहां से गुजरने वाले लोगों को डराती है।

उग्रसेन की बावली, दिल्ली- 

इस बाउली से बारे में कहा जाता है कि कुछ आत्माएं यहां रहती हैं जो लोगों को आत्महत्या के लिए मजबूर कर देती हैं।

दाउ हिल, दार्जलिंग

दाउ हिल, दार्जलिंग
दाउ हिल, दार्जलिंग

यहां पर कुछ लकड़ी काटने वाले लोगों को अक्सर एक लड़का दिखता है जिसका सर कटा हुआ है।

डमास बीच, सूरत-

डमास बीच, सूरत
डमास बीच, सूरत

यह एक श्मसान घाट है। यहां के बारे में कहा जाता है जिन आत्माओं को शांति नहीं मिलती है वह भटकती हुई इस जगह पर देखी गई हैं।