जन्मदिन पर मोदी ने तोड़ा प्रोटाेकॉल: 20 से ज्यादा गाड़ियों का काफिला छोड़ एक कार में बैठकर मां का आशीर्वाद लेने पहुंचे

नरेंद्र मोदी अपने 67वें जन्मदिन पर शनिवार सुबह यहां गांधीनगर में मां हीराबेन से मिलने पहुंचे। वे करीब आधा घंटा मां के साथ रहे। इस दौरान पूरे वक्त उनका हाथ थामे रहे। मां के घर वे प्रोटोकॉल तोड़कर अपने लंबे काफिले के बगैर ही पहुंचे। इससे पहले मोदी शुक्रवार रात अहमदाबाद आए। 

पीएम बनने के बाद वे तीसरी बार मां से मिलने पहुंचे। मुलाकात के बाद मोदी ने ट्वीट किया, ''मां की ममता, मां का आशीर्वाद जीवन जीने की जड़ी-बूटी है।'' बता दें कि दो दिन के गुजरात दौरे में मोदी कई प्रोजेक्ट्स की शुरुआत करेंगे। इसके बाद नवसारी जाकर हैंडिकैप्ड लोगों को हेल्पिंग इक्विपमेंट भी बांटेंगे। करीब आधे घंटे मां के साथ रहे मोदी...



- मोदी की मां उनके भाई पंकज के घर रहती हैं। यहां सुबह सवा सात बजे मोदी एक कार में बैठकर पहुंचे। वे हाफ कुर्ता पहने हुए थे। उनकी मां सोफे पर बैठी थीं।

- आते ही मोदी ने मां के पैर छुए। हीराबेन ने उन्हें हाथ में कुछ दिया।

- इसके बाद माेदी अपनी मां की दाहिनी तरफ बैठ गए। मोदी पूरे वक्त उनका हाथ थामे हुए थे।

प्रोटोकॉल तोड़कर मां से मिलने पहुंचे
- मोदी मां के घर प्रोटोकॉल तोड़कर अपने लंबे काफिले के बगैर ही पहुंचे। बता दें कि वे स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप की सिक्युरिटी में रहते हैं।

- उनके काफिले में आमतौर पर 20 से ज्यादा कारें रहती हैं, जिनमें सिक्युरिटी, पर्सनल स्टाफ से लेकर एम्बुलेंस तक शामिल है।

- न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मोदी इतने बड़े काफिले के बगैर मां से मिलने पहुंचे। वे एक एसयूवी में सवार थे। पूरे रास्ते की नाकेबंदी की गई थी। मोदी की गाड़ी के आगे या पीछे काफिले की कोई कार मौजूद नहीं थी।

- यहां से मोदी राजभवन लौट गए, जहां सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर से उनकी मुलाकात हुई।

सीएम ने किया मोदी का वेलकम

- अहमदाबाद में सीएम विजय रूपाणी समेत कई मंत्रियों और सीनियर बीजेपी लीडर्स ने मोदी का वेलकम किया। बाद में मोदी वहां से गांधीनगर रवाना हो गए।

- अहमदाबाद एयरपोर्ट पर मोदी ने कहा, "16 सितंबर, 2016 को भी मुझे इसी धरती पर आपसे मिलने का मौका मिला था। मैं भाग्यशाली हूं कि मुझे आज फिर पुराने दोस्तों से मिलने का मौका मिला।"

- "इतनी बड़ी तादाद में आप लोग मुझे आशीर्वाद और बधाई देने आए हैं। आप सभी का दिल से शुक्रिया अदा करता हूं।"

- मोदी दाहोद के लीमखेडा जाएंगे। वहां कडाना हाफेश्वर इरिगेशन प्रोजेक्ट उद्घाटन करने के बाद एक सभा को भी संबोधित करेंगे।

- इस प्रोग्राम के बाद मोदी नवसारी जाएंगे और वहां सामाजिक अधिकारिता शिविर में दिव्यांगों को हेल्पिंग इक्विपमेंट देंगे।

ग्रीटिंग पर मोदी की फोटो और अखबार में पब्लिश स्पीच की कटिंग चिपकाई

- महाराष्ट्र के सांगली के एक सपोर्टर वीरेंद्र हालिंगले ने 17 सितंबर को पीएम के 66वें जन्मदिन पर 66 फीट लंबा ग्रीटिंग भेजा है।

- हालिंगले ने बताया कि पीएम के लिए इस ख़ास ग्रीटिंग को बनाने में उन्हें दो महीने का वक्त लगा।

- तीन रंगों के हेवी ग्रीटिंग को अखबारों में छपी मोदी की तस्वीरों और उनकी देश-विदेश में दी गई स्पीच से जुडी खबरों को चिपका कर तैयार किया गया है।

वाराणसी में भी तैयारियां

- नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में उनका जन्मदिन धूमधाम से मनाने की तैयारियां की गई हैं।

- ऑर्गनाइजर कमेटी के कन्वीनर सुरेश सिंह के मुताबिक, रोहनिया बाजार के रामलीला मैदान में एक बड़ा स्टेज बनाया गया है।

- इसी पर पूजा-पाठ के बाद 66 किलो लड्डू लोगों के बीच बांटा जाएगा। बीजेपी के एक लोकल लीडर अशोक कुमार यादव ने बताया कि मोदी के जन्मदिन पर बड़ी संख्या में लोगों को मिठाइयां बांटी जाएंगी, जिसके लिए तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

दिल्ली में केक का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ने की तैयारी

- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली में एक एनजीओ शक्ति फाउंडेशन ने मोदी के बर्थडे के लिए एक बड़ा-सा केक बनाया है। एनजीओ का मकसद दुनिया के सबसे सबसे बड़े केक का रिकॉर्ड तोड़कर गिनीज बुक में नाम शामिल कराना है।

- इससे पहले सबसे बड़ा केक पोलैंड के रेसजो इंटरनेशनल फेयर में 21 मई, 2011 को काटा गया था। इसकी ऊंचाई 1.74 मीटर और वजन 720.8 किलो था।

- केक से मोदी के कैम्पेन 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' का संदेश दिया जाएगा। इसमें करीब 5 हजार महिलाओं-लड़कियों के शामिल होने की संभावना है।

गुजरात में बन सकते हैं ये रिकॉर्ड


- मोदी के बर्थडे के मौके पर शनिवार को नवसारी में एक खास प्रोग्राम ऑर्गनाइज किया गया है।

- इस प्रोग्राम में 11 हजार दिव्यांगों को इनवाइट किया गया है। इन सभी लोगों को मोदी इक्विपमेंट्स और किट्स गिफ्ट करेंगे।

- माना जा रहा है कि 11 हजार दिव्यांगों को एक साथ कभी इतने उपकरण गिफ्ट नहीं किए गए। इस लिहाज से मोदी नया गिनीज रिकॉर्ड बना सकते हैं।

- दो और रिकॉर्ड्स भी बन सकते हैं। 1000 दिव्यांग इतने ही दीपक एक साथ जलाएंगे। 1000 दिव्यांगों को व्हील चेयर्स दी जाएंगी।

- इसके पहले अमेरिका में 346 लोगों को एक साथ व्हील चेयर्स दी गई थीं। शनिवार को ये रिकॉर्ड टूट सकता है।
जन्मदिन पर मोदी ने तोड़ा प्रोटाेकॉल: 20 से ज्यादा गाड़ियों का काफिला छोड़ एक कार में बैठकर मां का आशीर्वाद लेने पहुंचे जन्मदिन पर मोदी ने तोड़ा प्रोटाेकॉल: 20 से ज्यादा गाड़ियों का काफिला छोड़ एक कार में बैठकर मां का आशीर्वाद लेने पहुंचे Reviewed by Gajab Dunia on 11:11 AM Rating: 5