नहीं सुलझ पाया कुंड का राज, ताली बजाने से आता है गर्म पानी

कुरदत के भीतर कई राज छुपे हैं। इंसान सदियों से इन राजों को जानने की कोशिश करता रहा है, लेकिन कई राज ऐसे हैं जिनपर से अब तक पर्दा नहीं हट पाया है। सच और रहस्य की इस दूरी को कम या खत्म करने का सिलसिला बहुत पुराना है। ऐसा ही एक रहस्य है झारखंड के बोकारो जिले का ये कुंड।


ऐसा कुंड जहां ताली बजाने से पानी अपने आप निकल आता है। तालाब में पानी इतनी तेजी से निकलता है मानो किसी बर्तन में पानी उबल रहा हो। इतना ही नहीं इस कुंड की खासियत है कि यहां सर्दी में गर्म और गर्मी में ठंडा पानी निकलता है।

बोकारों शहर से 27 किमी दूर इस अनोखे कुंड में नहाने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। लोगों का मानना है कि इस पानी में जो कोई भी मन्नत मागंता है उसकी सारी मन्नतें पूरी हो जाती हैं। लोग मानते हैं इस कुंड के पानी में एक बार नहा लेने के बाद से किसी भी तरह का चर्म रोग नहीं होता। इस तालाब को दलाही कुंद के नाम से भी जाना जाता है।

इस अनोखे कुंड पर वैज्ञानिकों ने कई बार सोध किए कि आखिर यहां पानी आता कैसे हैं, लेकिन आज तक इस रहस्य से पर्दा नहीं उठ पाया। शोधकर्ताओं का कहना है कि ताली बजाने से पानी में ध्वनि तरंगों की वजह से पानी पर असर पड़ता है लेकिन यह ऊपर कैसे आता है यह पता अभी नहीं चल पाया है।
नहीं सुलझ पाया कुंड का राज, ताली बजाने से आता है गर्म पानी नहीं सुलझ पाया कुंड का राज, ताली बजाने से आता है गर्म पानी Reviewed by Gajab Dunia on 11:04 PM Rating: 5