इस लड़की की जीभ की कीमत है Rs 67,000,000 रुपए

हायलेइ कर्टिस वो लड़की हैं जिनकी जीभ का चॉकलेट बनाने वाली मशहूर कंपनी कैडबरी ने 8.8 करोड़ रुपए का बीमा कराया गया है। अब आप सोच रहे होंगे कि भला हायलेइ की जीभ में ऐसा क्या है कि बीमा कंपनी ने उसकी जीभ की कीमत करोड़ों में मान ली है। हम आपको बता दें कि हायलेइ कैडबरी की 300 लोगों की चॉकलेट टेस्टिंग टीम का हिस्सा हैं और उनका काम टेस्ट कर क्वालिटी कंट्रोल करना है। 

असल में बीमा कंपनी ने उनके टेस्ट बड्स का बीमा किया है। कैडबरी का कहना है कि हायलेइ के टेस्ट बड्स पर उनकी क्वालिटी का बड़ा हिस्सा निर्भर करता है इसलिए उनकी जीभ उनके लिए बेहद कीमती है।



चॉकलेट साइंटिस्ट हैं हायलेइ
हायलेइ असल में एक चॉकलेट साइंटिस्ट हैं। मशहूर चॉकलेट बॉर्नविल की क्वालिटी कंट्रोल का काम भी हायलेइ की टीम ही देखती है। हायलेइ का कम है कि वो अपने सभी ब्रांड्स की चॉकलेट और बाकी सभी राइवल ब्रांड्स की चॉकलेट को टेस्ट कर उनका एनालिसिस कर भविष्य की योजनाओं पर काम करे। 

कैडबरी ने इतनी बड़ी रकम वाले बीमा पर कहा है कि जब फुटबॉल क्लब अपने खिलाड़ियों की टांगों का बीमा करा सकते हैं तो हम अपने कर्मचारी की बेशकीमती जीभ का क्यों नहीं करा सकते। हायलेइ हर दिन कैडबरी के लिए नए-नए फ्लेवर्स और भविष्य की योजनाओं पर काम करती हैं साथ क्वालिटी कंट्रोल में भी उनकी अहम् भूमिका है इसलिए वो कंपनी के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।

सिर्फ हायलेइ ही नहीं हैं ऐसी

जॉन जे एपेन बिलकुल हायलेइ की तरह ही बीयर टेस्टर हैं। उन्होंने एक ख़ास तरह की बीटल जूस बीयर (पान के रस बना बीयर) तैयार की है जिसे भारतीय बाज़ार के लिए ही बनाया गया है। फ्रांस समेत यूरोप के सभी देशों में वाइन के उत्पादन पर ख़ासा जोर दिया जाता है। वहां बाकायदा वाइन टेस्टिंग पार्टियां होती हैं और यूनिवर्सिटीज में वाइन टेस्टिंग के कोर्स भी चलाए जाते हैं। 

यहां तो वाइन टेस्टिंग एक बढ़िया प्रोफेशन भी है। वाइन, व्हिस्की और बीयर की में विशेष खुशबू और रंग होता है इसी तरह ऐसी ही खुशबू बिस्कुट, टॉफी, डार्क चॉकलेट, कॉफी और सिरके में भी होती है। इन सभी को टेस्ट कर नए फ्लेवर्स की खोज करना या क्वालिटी कंट्रोल करना एक बढ़िया करियर भी है।
इस लड़की की जीभ की कीमत है Rs 67,000,000 रुपए इस लड़की की जीभ की कीमत है Rs 67,000,000 रुपए Reviewed by Gajab Dunia on 8:54 AM Rating: 5