जब शहीद बेटे की अर्थी को 80 वर्षीय मां ने दिया कंधा

सेना की 20 डोगरा रेजीमेंट के शहीद हवलदार मदन लाल शर्मा का सोमवार को उनके गांव घरोटा में सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। वह जम्मू-कश्मीर के नौगाम सेक्टर में हुए आतंकी हमले में शहीद हो गए थे। शहीद सपूत की अर्थी को जब 80 वर्षीय मां ने कंधा दिया तो माहौल गमगीन हो गया। इस दौरान हाथों में तिरंगा पकड़े लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद और भारतीय सेना जिंदाबाद व शहीद मदन लाल अमर रहे के नारे लगाए।

बृहस्पतिवार को तिरंगे में लिपटी शहीद की पार्थिव देह पठानकोट स्थित उनके पैतृक गांव पहुंची। शहीद की 80 वर्षीय मां धर्मों देवी की सिसकियां और शहीद की पत्नी भावना शर्मा की चीखें सुन हर कोई अपने आंसू नहीं रोक पा रहा था। वहीं शहीद की पांच वर्षीय बेटी श्वेता और ढाई वर्ष का बेटा कन्नव गुमशुम से यह सब देख रहे थे। शहीद की मां ने अपने बेटे की अर्थी को कंधा देकर देश के सामने संदेश दिया कि बेटे की कर्तव्य परायणता उनके लिए सबसे अहम है।

सेना की 2 डोगरा रेजीमेंट के जवानों ने हवाई फायर करने के बाद शस्त्र उलटे कर मातमी बिगुल धुन के साथ शहीद को सलामी दी। सेना की ओर से 21 सब एरिया के एडम कमांडर कर्नल संजय पांडे, लेफ्टिनेंट कर्नल गौरव शर्मा, शहीद की यूनिट 20 डोगरा के सूबेदार सतपाल सिंह के अलावा मुख्य संसदीय सचिव सीमा कुमारी, जिला प्रशासन की ओर से डीसी अमित कुमार, एसएसपी राकेश कौशल, एसडीएम मेजर अमित महाजन आदि ने पुष्पचक्र भेंटकर शहीद को श्रद्धांजलि दी। शहीद के ढाई वर्ष के बेटे कन्नव और भतीजे रोहित शर्मा ने पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी।
जब शहीद बेटे की अर्थी को 80 वर्षीय मां ने दिया कंधा जब शहीद बेटे की अर्थी को 80 वर्षीय मां ने दिया कंधा Reviewed by Rajmal Menariya on 1:10 PM Rating: 5