क्या आप जानते है, ग्रीक और रोमन मूर्तियों के लिंग हमेशा इतने छोटे क्यों बनाए गए?”

आप चाहे कभी यूरोप घूमने गए हों या नहीं, पर वहां की कला से आप सब रू-ब-रू हुए होंगे टीवी और इंटरनेट के माध्यम से। वहां की आर्ट गैलरीज़ को देख कर लगता है कि यार काश हम भी वहां घूमने जा पाते। वहां के म्यूज़ियम और पब्लिक प्लेस पर बने आर्ट स्कल्प्चर्स सैलानियों का मन मोह लेते हैं। चाहे कोई राजा हो या कोई देवता उन सबकी मूर्तियों को देखने के बाद लगता है जैसे हम सैकड़ों साल पीछे पहुंच गए हों।



दोस्तों वहां घूमने गए कई सैलानियों के मन में इन मूर्तियों को लेकर एक ख़ास तरह का सवाल उभरता है जो कि ज़ाहिर तौर पर कला से सम्बंधित ही है। प्लास्टिक ब्यूटी के इस दौर में जहां तरह-तरह की सर्जरी करवा कर लोग अपना रंग-रूप बदलवाने में लगे हुए हैं और जहां इस समाज में ‘साइज़’ बहुत मायने रखता है, वहीं दूसरी तरफ़ इन मूर्तियों में एक बिलकुल अलग तरह का पैटर्न नज़र आता है। कुछ सैलानियों ने ट्वीट कर ये सवाल पूछा कि “इन ग्रीक और रोमन आर्ट स्टेचू के लिंग हमेशा इतने छोटे क्यों बनाए गए?”


statue of David in Florence’s Piazza Della Signoria, Carved by Michelangelo between 1501 and 1504

पहली नज़र में ये सवाल बेहद भद्दा और वाहियात लग सकता है पर कला की दृष्टि से देखने पर ये सवाल बहुत वास्तविक और सटीक मालूम पड़ता है। और इसके पीछे की कहानी आज के सुंदरता के पैमानों से बिलकुल अलग है। इस सवाल का जवाब दिया है एक आर्ट हिस्टोरियन ‘Ellen Oredsson’ ने अपने ब्लॉग पर।


एलेन कहती हैं कि उनके पास कला से सम्बंधित हर सवाल का जवाब है और कोई भी सवाल मूर्खतापूर्ण नहीं होता। वो कहती हैं कि कई लोगों ने उनसे ये सवाल पूछा। उसके पीछे की कहानी ये है कि पुराने ज़माने में रोम में छोटे लिंग को ज़्यादा आकर्षक और खूबसूरत माना जाता था। वहीं बड़े लिंग को बेहद भद्दा माना जाता था और उसका प्रयोग बेवक़ूफ़ और लस्टफुल इमेज दिखाने के लिए किया जाता था।यही कारण है कि इन मूर्तियों में लिंग का आकार छोटा बनाया जाता था।
Tweets related to reason behind small sexual organs in greek statues-




क्या आप जानते है, ग्रीक और रोमन मूर्तियों के लिंग हमेशा इतने छोटे क्यों बनाए गए?” क्या आप जानते है,  ग्रीक और रोमन मूर्तियों के लिंग हमेशा इतने छोटे क्यों बनाए गए?” Reviewed by Gajab Dunia on 9:09 AM Rating: 5