‘शोले’ में ठाकुर के हाथों मारा गया था ‘गब्बर’ लेकिन फिल्म में दिखाया ही नहीं गया

अगर व्यक्तिगत तौर पर मुझसे पूछा जाए कि किस खलनायक ने मुझे वाकई डराया है। तो निःसंकोच आपकी ही तरह मेरा भी यही जवाब होगा, शोले का ‘गब्बर सिंह’।



15 अगस्त 1975 को रिलीज हुई फिल्म शोले जबर्दस्त पटकथा और डायलॉग की वजह से सर्वकालिक महान फिल्मों में एक मानी जाती है। संजीव कुमार और अमजद खान से लेकर अमिताभ और धर्मेन्द्र ने अपने अभिनय से फिल्म को यादगार बना दिया। उम्दा संगीत और हेलन पर फिल्माया गए गाना “महबूबा महबूबा” का तो क्या कहना। सांभा और कालिया जैसे किरदार आज भी याद किए जाते हैं। पर डकैतों के सरदार गब्बर सिंह बने अमजद के संवादों की दमदार अदायगी इस फिल्म को सिनेमा जगत के अलग स्तर पर ले जाती है।

तो देखिए गब्बर की मौत का अनदेखा विडियो। यह शोले का वास्तविक अंत है, जो आपने नहीं देखा होगा।


‘शोले’ में ठाकुर के हाथों मारा गया था ‘गब्बर’ लेकिन फिल्म में दिखाया ही नहीं गया ‘शोले’ में ठाकुर के हाथों मारा गया था ‘गब्बर’ लेकिन फिल्म में दिखाया ही नहीं गया Reviewed by Gajab Dunia on 9:07 AM Rating: 5