जानते हैं क्यों पश्चिम के अधिकतर देशों में लेफ्ट हैंड साइड (बाएं तरफ) गाड़ी चलायी जाती है ?

पश्चिम के अधिकतर देशों में गाड़ी लेफ्ट हैंड साइड चलाई जाती है। बाएं तरफ गाड़ी चलाना भारत जैसे देशों में अटपटा मालूम हो, क्योंकि यहां गाड़ी दाएं तरफ चलाई जाती है। कभी सोचा है कि इसके पीछे क्या कारण है मगर लेफ्ट की ओर गाड़ी चलाने के पीछे एक बहुत बड़ा कारण है।


पुराने जमाने में हर कोई रोड के लेफ्ट साइड पर चलना मुनासिब समझता था क्योंकि सामंतवादी समाज (फ्यूडल सोसाइटी) में इसे सबसे बेहतर विकल्प माना जाता था। अधिकतर लोग राइट हैंडेड होते है, इस वजह से तलवारबाज अपने राइट हैंड में तलवार रखते थे और लेफ्ट में ट्रेवल करते थे। इससे वो अपने शिकार को अपने नजदीक रख पाते थे। इसके अलावा क्योंकि तलवार म्यान लेफ्ट साइड होती थी, उससे किसी को नहीं लगती थी।


पहले गाड़ियाँ नहीं हुआ करती थीं। लोग घोड़ों पर सवारी करते थे। एक राइट हैंडेड आदमी के लिए लेफ्ट साइड से घोड़े पर चढ़ना आसान होता है। साथ ही म्यान और तलवार लेकर घोड़े पर सवार होना या उतरना भी लेफ्ट साइड से आसान होता है।



इसके बाद, 18वीं सदी में जब बग्गी का इस्तेमाल प्रयोग में आया तब भी लोग लेफ्ट हैंड से लगाम पकड़ते थे, ताकी राइट हैंड चाबुक चलाने के लिए खाली रहे। 1789 में फ्रांस की क्रांति से पहले मालिक लेफ्ट साइड को चला करते थे, ताकी राइट साइड गुलामों के लिए खाली रहे और उन पर कोड़ों से जुल्म ढाया जा सके।



1709 से रूस में सड़को पर ट्रैफिक राइट साइड पर रहा करता था, मगर 1752 में बेगम एलिजाबेथ पैट्रोव्ना ने फतवा जारी कर ट्रैफिक को राइट साइड पर रहने का हुक्म सुना दिया। 1793 तक पेरिस में भी राइट हैंड साइड ड्राइविंग का कानून लागू कर दिया गया था। 19वीं सदी के आते-आते सड़क और वाहन निर्माण में आए विस्तार के कारण यातायात के नियम और कानून अधिकतर यूरोपीय देशों में लागू कर दिए गए थे। 1835 में ब्रिटेन में लेफ्ट साइड ड्राइविंग को अनिवार्य बना दिया गया था।



हालांकि जापान पर कभी ब्रिटेन का दबदबा नहीं रहा, मगर वहां भी यूरोपीय देशों की ही तरह लेफ्ट साइड ड्राइविंग की जाती है। इसके पीछे वजह यह है कि जापान में रेल नेटवर्क ब्रिटिश तकनीक की देन है। वहां की ट्रेनें और ट्राम लेफ्ट साइड पर बनी थी, जिसके कारण ट्रेफिक की आदत भी उसी तरह की हो गई।



तो भईया मतलब कि गाड़ी चलाना एक ऐसी प्रथा है, जो धीरे-धीरे लोगों के डीएनए में बस गया। खैर जो भी हो, एक मजेदार बात यह भी है कि कई देशों ने अपनी ड्राइविंग साइड यूरोप और अमेरिका के अनुसार इसलिए भी बदली ताकि वो बढ़िया और शाही गाड़ियां सस्ते में आयात कर सकें। वर्ना कंपनियों को उन देशों के लिए अलग से गाड़ियां बनानी पड़तीं।
जानते हैं क्यों पश्चिम के अधिकतर देशों में लेफ्ट हैंड साइड (बाएं तरफ) गाड़ी चलायी जाती है ? जानते हैं क्यों पश्चिम के अधिकतर देशों में लेफ्ट हैंड साइड (बाएं तरफ) गाड़ी चलायी जाती है ? Reviewed by Gajab Dunia on 8:30 AM Rating: 5