दिल को लुभाने वाले नजारे, यंही हुई थी 'चेन्नई एक्सप्रेस' की शूटिंग

केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम से 280 किलोमीटर दूर मुन्नार की सबसे खूबसूरत जगह यहां के चाय के बागान हैं। 12000 हेक्टेयर में फैले चाय के बागान आपको बेहद दिलकश लगेंगे। चाय की और बारीकियों को जानना चाहते हैं तो यहां के चाय संग्रहालय जा सकते हैं।





मुन्नार में वन्य जीवन को बेहद करीब से देखा जा सकता है। इरावीकुलम नेशनल पार्क यहां की खूबसूरत जगहों में शुमार है। मुन्नार से 15 किलोमीटर दूर बने इस पार्क का निर्माण नीलगिरी जंगली बकरों को बचाने के लिए किया गया था। 1978 में इसे राष्ट्रीय उद्यान घोषित कर दिया गया।



90.44 वर्ग किलोमीटर में फैला चिन्नार वाइल्ड लाइफ सेंचुरी भी हर मौसम में पर्यटकों से भरा रहता है। मुन्नार से यह सेंचुरी 60 किलोमीटर दूर है। दुर्लभ जानवर तो आप यहां देखेंगे ही, मंजमपट्टी का सफेद भैंसा भी दिखाई दे सकता है।



चिन्नार सेंचुरी आने पर ट्रैकिंग, चिन्नार सफारी और वॉटर फॉल ट्रैकिंग भी आप कर सकते हैं। यहां का वन विभाग यह सुविधाएं भी उपलब्ध कराता है। सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक ही आप इस सेंचुरी में घूम सकते हैं।
मुन्नार से मजह 8 किलोमीटर दूर कोच्चि रोड पर अतुकल वाटर फॉल्स है। बारिश के मौसम यानि जुलाई-अगस्त में यह और हसीन हो जाता है। इसी रास्ते पर दो और झरने चीयापरा फॉल्स और वलार फॉल्स भी हैं। समय हो तो यहां भी जा सकते हैं।


यहां बने चाय संग्रहालय भी जरूर जाएं। मुन्नार में जब पहली बार 1880 में चाय का उत्पादन किया गया था, तब की कई निशानियां रखी गई हैं। यहां कई ऐतिहासिक तस्वीरें भी लगी हुई हैं। चाय कैसे बनती है, यह जानने के लिए पास में ही बने टी प्रोसेसिंग यूनिट भी जा सकते हैं। यहां चाय बनने की पूरी प्रक्रिया को देख सकते हैं। यहां भी समय का ध्यान रखें। सुबह 10 से दोपहर 4 बजे तक ही यह सैलानियों के लिए खुलता है। सोमवार को यह बंद रहता है।


मुन्नार से 38 किलोमीटर दूर बना यह कोल्लुकुमल्ले चाय बागान देश में सबसे ऊंचाई पर स्थित चाय बागान है। बेहतरीन जलवायु के कारण यहां देश की सबसे बेहतरीन चाय की पैदावार होती है। यहां पहुंचने के लिए आपको जीप का सहारा लेना पड़ेगा।

मुन्नार में बनी मट्टुपेट्टी झील और बांध पर्यटकों की पसंदीदा जगह है। बोटिंग पसंद है तो यहां उसका भी आनंद ले सकते हैं।


मुन्नार आपको गाड़ी से ही आना होगा। यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन अलुवा है जो 110 किलोमीटर दूर है। एर्नाकुलम नजदीकी बड़ा रेलवे स्टेशन है, जो 127 किलोमीटर दूर है। मुन्नार का नजदीकी एयरपोर्ट कोचीन अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट है। यह भी मुन्नार से 110 किलोमीटर दूर है। केएसआरटीसी की बसें और निजी बसों से भी मुन्नार तक पहुंचा जा सकता है।


मुन्नार के जंगल लाजवाब हैं। यहां एक छोटी सी नदी भी है जो यहां के नजारे में चार चांद लगाती है। यहां घूमना हो तो समय का विशेष ख्याल रखें। सुबह 9 से 11 और फिर दोपहर में 2 से 3.30 बजे तक ही यहां घूमा जा सकता है।

97 वर्ग किमी में फैले इरावीकुलम नेशनल पार्क में दुर्लभ पशु-पक्षियों को देखा जा सकता है। ट्रैकिंग करना चाहें तो इस पार्क में यह सुविधा भी मौजूद है।

दक्षिण भारत की सबसे ऊंची चोटी मुन्नार से 10 किलोमीटर की दूरी पर ही है। एनामुडी चोटी की ऊंचाई 2695 मीटर है। यह भी सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र है।


2013 में शाहरुख खान और दीपिका पादुकोण की फिल्म चेन्नई एक्सप्रेस की अधिकतर शूटिंग मुन्नार में हुई है। इस फिल्म में दिख रहे शानदार नजारे इडुक्की जिले के ही हैं।


मुन्नार में आपको बजट होटल आसानी से मिल जाएगा। यहां सस्ता और अच्छा भोजन मिल जाएगा। नॉनवेज के शौकीन हैं तो यहां चिकन और मटन बिरयानी जरूर खाएं। शुद्ध और असली केरलाई खाना भी यहां मिल जाएगा।

Tag : Anamudi Peak, Chinnar Wildlife Sanctuary, Eravikulam National Park, Ernakulam, goat Nilgiri tahr, Idukki, Khabar Travel, Lakkam Waterfalls, Munnar
दिल को लुभाने वाले नजारे, यंही हुई थी 'चेन्नई एक्सप्रेस' की शूटिंग दिल को लुभाने वाले नजारे,  यंही हुई थी 'चेन्नई एक्सप्रेस' की शूटिंग Reviewed by Menariya India on 12:11 AM Rating: 5