क्या आप जानते है जींस में छोटी पॉकेट किसलिए होती है

छोटी पॉकेट का लिंक इतिहास से है। बताया जाता है कि लेवी स्ट्रॉस नाम की कंपनी ने ही इस जेब की शुरुआत की थी। बता दें कि लेवी स्ट्रॉस नाम की इस कंपनी को लिवाइस के नाम से जाना जाता है।



क्या आप जानते हैं कि आपकी जींस में जो छोटी सी पॉकेट होती है वो क्यों होती है? यह पॉकेट इतनी छोटी होती है कि इसमें एक-दो सिक्के रखे जा सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि आखिर जींस की पैंट में दाईं तरफ ये छोटी पॉकेट क्यो बनाई जाती हैं।



दरअसल इस पॉकेट का नाम वॉच पॉकेट है और इसे काउबॉयज के लिए खास तौर पर तैयार किया गया था 18वीं शताब्दी में काउबॉयज अपने वेस्टकोट पर चेन वाली घडियां पहना करते थे। इन घड़ियों को रखने के लिए ये पॉकेट बनाई गई थी। इसके लिए घड़ियों को टूटने से बचाने के लिए लिवाइस ने यह छोटी पॉकेट जींस में देना शुरू किया था।



हालांकि अब कई लोग इस जेब को कॉन्डोम, कॉइन, टिकट पॉकेट के नाम से जानते हैं।




ये तो आप जानते ही होंगे कि जींस का आविष्कार मजदूरों के लिए ही किया गया था। इसलिए जींस की डिजाईन भी उनके काम के अनुसार की गई है।




वहीं अगर जींस की जेब के पास लगे छोटे बटन की बात करें तो ये बटन भी मजदूरों को ध्यान में रखकर ही लगाए जाते थे।



इससे जींस की सिलाई मजबूत रहती है और जींस कई दिनों तक काम में ली जा सकती है। लेकिन अब इसे डिजाईन ही माना जाता है।
क्या आप जानते है जींस में छोटी पॉकेट किसलिए होती है क्या आप जानते है जींस में छोटी पॉकेट किसलिए होती है Reviewed by Menariya India on 9:07 PM Rating: 5