जापान में ये ट्रेन सिर्फ एक लड़की को स्कूल से लाने-छोड़ने के लिए चलती है!

भारत में बहुत से बच्चे गांवों के ऊबड़-खाबड़ रास्ते से पैदल स्कूल जाते हैं। क्योंकि सड़कें खराब हैं, ट्रांसपोर्ट भी नहीं है। लेकिन जापान में ऐसा नहीं है। वहां की सरकार देश के हर सिटिजन का पूरा ख्याल रखती है। ताजा मिसाल वहां के एक गांव की है। यहां सिर्फ एक लड़की के लिए जापान सरकार ट्रेन चला रही है। ताकि वह घर से स्कूल आ-जा सके।


कामी शिराताकी गांव के रेलवे स्टेशन


यह भी पढ़े : अब से जापानी महिलाएं सिर्फ़ सोने के लिए स्मार्ट लड़कों को किराये पर ले सकती हैं...

जापान ने क्यों लिया ये अनोखा फैसला...

- मामला जापान के नॉर्थ आइलैंड होकाइदो पर स्थित एक गांव कामी शिराताकी गांव का है।
- यहां के रेलवे स्टेशन को तीन साल पहले सरकार ने बंद करने का फैसला किया था। इसके लिए नोटिस भी जारी कर दिया। कामी शिराताकी गांव के आसपास कम पॉपुलेशन रहती है।
- रेलवे अफसरों को पता चला कि रोजाना हाईस्कूल में पढ़ने वाली एक लड़की स्कूल जाती है। और उसके स्कूल तक पहुंचने के लिए और कोई साधन नहीं है।
- अफसरों ने इसकी इन्फॉर्मेशन रेलवे मिनिस्ट्री को दी।
- सरकार ने फौरन लड़की के लिए ट्रेन को दोबारा शुरू करने का ऑर्डर दिया। साथ ही यह भी कहा कि लड़की के ग्रेजुएशन पास होने तक ट्रेन जारी रहेगी।
- ट्रेन का शेड्यूल भी लड़की के स्कूल की टाइमिंग पर ही रखा गया। यानी जिस दिन स्कूल में छुट्‌टी होती है उस दिन ये ट्रेन भी नहीं चलती है।
- इसके बाद से रोज यह ट्रेन लड़की को लेकर स्कूल जाती है। और दोबारा स्कूल से गांव पहुंचाती है।
- यह स्टेशन मार्च में बंद हो जाएगा क्योंकि लड़की का ग्रेजुएशन कम्प्लीट हो जाएगा।





यह भी पढ़े : जापान की ये लड़की ख़ास नहीं, लेकिन आम भी नहीं - पूरी दुनिया हो गई है इसके पीछे पागल


सोशल मीडिया पर लोगों ने की तारीफ

- खबर सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गई है। लोग जापान सरकार के इस फैसले का काफी एप्रीशिएट कर रहे हैं।
- एक शख्स ने कमेंट किया, "क्यों न हम उस देश के लिए मरना पसंद करें जो मेरे लिए इतना कुछ करती है।"
- एक अन्य ने लिखा, "यह वास्तविक गुड गवर्नेंस है। जिसके लिए हर एक नागरिक महत्व रखता है।

story source ; citylab, Image from Facebook

जापान में ये ट्रेन सिर्फ एक लड़की को स्कूल से लाने-छोड़ने के लिए चलती है! जापान में ये ट्रेन सिर्फ एक लड़की को स्कूल से लाने-छोड़ने के लिए चलती है! Reviewed by Menariya India on 5:45 PM Rating: 5