भारत के छात्रों को पढ़ाते हैं ऐसे अध्यापक, जिन्हें खुद भारत का ज्ञान नहीं...

सरकार सालों से भारत में साक्षरता अभियान चला रही है. इसके बावजूद संयुक्त राष्ट्र की ताजा रिपोर्ट बताती है कि दुनिया में सबसे ज्यादा निरक्षर वयस्क भारत में ही हैं. हालांकि सरकार की ओर से भारत में 6 से ले कर 14 वर्ष तक के युवाओं के लिए मुफ्त में शिक्षा की व्यवस्था की गई है,

लेकिन इन संस्थानों पर नज़र डालने से पता चलता है कि यहां पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य अंधकार में ही है. सरकारी स्कूलों में जो शिक्षक पढ़ाने के लिए तैनात किए गए हैं, उनकी स्थिति बहुत ही दयनीय है. उन्हें ना तो भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री का नाम याद है और ना ही देश-प्रदेश में अंतर पता है.

एक निजी चैनल के रिपोर्टर ने उत्तर प्रदेश के कई सरकारी स्कूलों में प्रधानाध्यापकों समेत, सभी विषयों के अध्यापकों से कुछ बेसिक सवाल किए, जिनका उत्तर जान कर आप भी हैरान हो जाएंगे. आइए नज़र डालते हैं उन सवालों पर.

1. प्रश्न - राष्ट्रगान के रचयिता कौन हैं?



उत्तर- कानपुर के पार्षद
सही उत्तर- रविन्द्र नाथ टैगोर




2. देश की राजधानी क्या है?



उत्तर- लखनऊ
सही उत्तर- नई दिल्ली



3. प्रश्न- देश के राष्ट्रपति कौन हैं?



उत्तर- राम नाईक
सही उत्तर- श्री प्रणब मुखर्जी



4. Eight की स्पेलिंग क्या होती है?



उत्तर- E... I...G...T
सही उत्तर- Eight



5. प्रश्न- देश के प्रधानमंत्री कौन है?



उत्तर- अखिलेश यादव
सही उत्तर- श्री नरेंद्र मोदी



6. प्रश्न- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कौन हैं?



उत्तर- नहीं मालूम, लेकिन DM से छोटे होते हैं
सही उत्तर- अखिलेश यादव




ज़्यादा जानकारी के लिए आप इस वीडियो को देखें:-




शिक्षा अधिकारी की सफ़ाई
शिक्षा अधिकारी कहते हैं कि शिक्षकों के बारे में उनको जानकारी है, लेकिन उनके ख़िलाफ चाह कर भी वो कुछ नहीं कर सकते हैं. इसे राजनीतिक विवशता के रूप में देखा जा सकता है.
सबसे अहम सवाल

देश में 65 प्रतिशत आबादी युवाओं की है और लगभग इतनी ही संख्या में लोग गांवों में भी रहते हैं. अब सबसे बड़ा सवाल है कि इन बच्चों की बर्बादी का दोषी कौन होगा?


ये थी सरकारी स्कूलों की स्थिति. मुझे नहीं लगता है कि इससे भी बद्तर स्थिति किसी और देश में होगी. हमारे देश में गुरुओं का दर्जा भगवान से भी ऊपर है, लेकिन ऐसे गुरुओं की वजह से हमारा देश और समाज किस दिशा में जाएगा इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है.

भारत के छात्रों को पढ़ाते हैं ऐसे अध्यापक, जिन्हें खुद भारत का ज्ञान नहीं... भारत के छात्रों को पढ़ाते हैं ऐसे अध्यापक, जिन्हें खुद भारत का ज्ञान नहीं... Reviewed by Menariya India on 9:21 PM Rating: 5