बदलते समय के साथ इंडिया गेट का बदलता रूप हम सभी को देखना चाहिए...

इंडिया गेट प्रतीक है हमारे आत्म सम्मान और जवानों की शहादत का. इंडिया गेट प्रतीक है हमारी समृद्धि और प्रतिरोध का. इंडिया गेट प्रतीक है हमारे अल्हड़पन और संज़ीदगी का. तो आइए हम आपको लिए चलते हैं एक बार फिर से इंडिया गेट पर जिसे हर कोई उसके ही नज़र से देखता और जीता है...



इंडिया गेट को उसी मशहूर एडविन लुटियन ने बनवाया था जिन्हें नई दिल्ली का नक्शा बनवाने का श्रेय प्राप्त है. 42 मीटर ऊंचे इस मेहराब को लुटियन ने उसकी निगरानी में निर्मित करवाया था. दरअसल यह एक युद्ध स्मृतिशेष है जिसे प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान शहीद भारतीय सैनिकों की याद और सम्मान में बनवाया गया था. इसकी बनावट और डिजाइन फ्रांस के Arc-de-Triomphe से प्रभावित है जो फ्रांस का वार मेमोरियल है.




किसी ठंड की एक शाम में इंडिया गेट को देखता एक परिवार...






इंडिया गेट किसी एक आम दिन में...






अमर जवान ज्योति पर शहीद जवानों को सैल्यूट करते हुए एनसीसी कैडेट्स...






किसी स्टंट-शो के दौरान मोटरबाइक राइडर...






LED लाइटों की रौशनी में इंडिया गेट...






भारतीय सेना इंडिया गेट के समक्ष गरम हवा के गुब्बारे उड़ाने की प्रैक्टिस करती हुई...






इंडिया गेट के समक्ष लोग विश्व विकलांग दिवस मनाते हुए...






दिसम्बर 2012 की कड़कड़ाती ठंड में जह देश भर से युवा सड़को पर आ गये थे और इंडिया गेट से लेकर राजपथ को जाम कर दिया था, उस समय वहां का टॅफिक सिग्नल हमेशा लाल ही रहता था...






अन्ना हजारे के इंडिया अगेन्सट करप्शन के दौरान युवा हाथ में कैडल लिए हुए इंडिया गेट के सामने...






सन् 2008 सितम्बर में महरौली में हुए बम ब्लास्ट के बाद एक जवान निगरानी करता हुआ...






सन् 1957 के गणतंत्र दिवस के दौरान इंडिया गेट, यहां किंग जॉर्ज पंचम की मूर्ति भी दिख रही है...






सन् 2012 के ठंड के दौरान निर्भया गैग रेप के विरोध में उतरा युवाओं का जनसैलाब और उन पर लाठी भांजती पुलिस...






अंतर्राष्ट्रीय वेंडर दिवस 2012 के दौरान भारत का वेंडर समुदाय नारे लगाता हुआ...






एचआईवी और एड्स के लिए जागरुकता अभियान चलाते हुए...






निर्भया गैंग रेप का विरोध करते हुए युवा और उन पर भारी पानी धार की बौछार करते हुई पुलिस...






दिल्ली ट्रैफिक पुलिस द्वारा रोड सेफ्टी अभियान में सहयोग और अगुआई करती हुई सोनम कपूर...






35 वें विजय दिवस के मौके पर अमर जवान ज्योति के ऊपर से उड़ते उड़नखटोले...






जब देश में ऑडी को पहली बार उतारा गया...






अर्थ आवर को मौके पर इंडिया गेट पर चुटे बच्चे और लोग...






किसी शाम इंडिया गेट के बेमिसाल नज़ारे...






फौज के जवान किसी जश्न के मौके पर इंडिया गेट के सामने शारीरिक सौष्ठव दिखलाते हुए...






मुंबई आतंकी हमले के बाद देश की मशहूर शख़्सियतें और खिलाड़ी उन मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए...






सेना का बैंड किसी विशेष मौके पर बैंड बजाता हुआ...



all Images source : mensxp
बदलते समय के साथ इंडिया गेट का बदलता रूप हम सभी को देखना चाहिए... बदलते समय के साथ इंडिया गेट का बदलता रूप हम सभी को देखना चाहिए... Reviewed by Unknown on 9:56 AM Rating: 5