एक गाँव, जहां जाने -आने के लिए सड़के नहीं, नहरे है

सपनो सा एक गाँव


गिएथूर्न, नीदरलैंड (हॉलैंड) का एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है जो की 'दक्षिण का वेनिस' या 'नीदरलैंड का वेनिस' के नाम से भी जाना जाता है। यहाँ पर साल भर पर्यटकों का ताँता लगा रहता है क्योंकि यह एक सपनो का गाँव है, एक ऐसा गाँव जहाँ की खूबसूरती और सादगी देख कर वही बस जाने का मन करता हैं।



Image credit



Image Credit

इस गाँव की सबसे बड़ी खासियत यह है की यह पूरा गाँव नहरों से घिरा है। इस गाँव में एक भी गाडी या बाइक नहीं है क्योकि यहाँ पर इनको चलाने लायक एक भी रोड नहीं हैं। जिस किसी को भी कहीं जाना हो वह बोट के सहारे ही जा सकता है। यहां के नहरों में इलेक्ट्रिक मोटर से नाव चलती हैं, जिसके जरिए लोग कहीं आते जाते हैं। इन नावों से बहुत कम शोर होता है और लोगों को इनसे कोई शिकायत नहीं रहती। वहीं, कुछ लोगों ने एक से दूसरी जगह जाने के लिए गांव के बीच से गुजरने वाली नहर पर लकड़ी के पुल बना लिए हैं।


Image credit





1230 में बना था ये गांव :

इस गाँव में इतना पानी 1170 की एक भयंकर बाढ़ में आया था लेकिन इस गाँव की स्थापना 1230 में हुई थी। जब लोग यहाँ पर रहने आये तो उन्हें यहाँ पर बहुत सारे जंगली बकरियों के सिंग मिले जो की सम्भवतया 1170 की बाढ़ में यहाँ बह कर आई होगी। इसलिए इस जगह का शुरुआती नाम पड़ा 'गेटेनहोर्न' (Geytenhorn), जिसका मतलब होता है 'बकरियों के सिंग'। बाद में इसका नाम गिएथूर्न (Giethroon) हो गया।


Image credit




कैसे बनी नहरे :
इन नहरों के बनने के पीछे की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है, यहाँ पर इन नहरों का निर्माण अनजाने में ही हुआ। हुआ यूँ की जब लोग यह पर रहने आये तो उन्होंने देखा की 1170 की बाढ़ के कारण यहाँ पर जगह जगह प्रचुर मात्रा में पिट इकठ्ठी ही गई है। पिट एक तरह की दलदली मिटटी और वनस्पतियों का मिश्रण होता है जो की ईंधन के रूप में काम में लिया जाता है। उन लोगो ने इस पिट को काम में लेने के लिए जगह जगह उसकी खुदाई करी। इस तरह खुदाई करते करते कई सालों में यहाँ पर नहरों का निर्माण हो गया। तब, शायद किसी को यह अंदाजा नहीं होगा कि पीट निकालने से बनी नहरों के कारण यह जगह दुनिया के नक्शे पर खूबसूरत पर्यटक स्थल के रूप में छा जाएगी। इस गाँव से कुल 7.5 किलो मीटर लम्बी नहरें निकलती है।


Image Credit



एक फिल्म से हुआ फेमस :

वर्ष 1958 में बर्ट हांस्त्रा की डच कॉमेडी फिल्म फेनफेयर (Fanfare) की शूटिंग यहाँ होने के कारण गिएथूर्न विशव स्तर पर प्रशिद्ध हो गया।

एक गाँव, जहां जाने -आने के लिए सड़के नहीं, नहरे है एक गाँव, जहां जाने -आने के लिए सड़के नहीं, नहरे है Reviewed by Menariya India on 11:33 PM Rating: 5