10 ऐसे झूठ जिन्होंने पूरे इंडिया को बेवक़ूफ़ बना रखा है जैसे की भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है!

एक कहावत है कि अफवाह जंगल की आग से भी तेज़ फैलती है  और जो बिना किसी सहारे के ही  हज़ारों मीलों का सफ़र तय कर लेती है. हम हर रोज कोई न कोई नयी ख़बर सुनते हैं, जिनमें से कुछ सच और कुछ झूठ भी हुआ करती हैं! कभी कभी हमे सही में पता भी नहीं चल पाता है की ये सच है या झूट

हिटलर के प्रचार मंत्री ‘गोएबल्सकहता था कि किसी भी झूठ को 100 बार यदि जोर-जोर से बोला जाए तो वह अंतत: सच लगने लगता है. ऐसे ही इंडिया के वे 10 ऐसे झूठ जिन्हें हम अभी तक सच मानते रहे हैं.



1. रोम ओलम्पिक्स - 1960  के  रेस के दौरान मिल्खा सिंह ने पीछे मुड़ कर देखा

“फ्लाइंग सिक्ख” के नाम से पूरी दुनिया में मशहूर, मिल्खा सिंह 1960 के रोम ओलम्पिक्स के 400 मीटर रेस में कभी भी सबसे आगे नहीं थे. और न ही उन्होंने उस रेस में कभी पीछे मुड़ कर देखा था. वे इस रेस में पांचवे नंबर पर थे और काफ़ी मेहनत के बाद चौथा स्थान हासिल कर सके थे.


Source: merepix



2. नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु विमान दुर्घटना में हुई थी

सन् 1999 में आई मुखर्जी रिपोर्ट बताती है कि ‘नेताजी’ की मृत्यु 1945 के दौरान किसी हवाई दुर्घटना में नहीं हुई थी. हालांकि कोर्ट ने इस रिपोर्ट को सिरे से खारिज कर दिया. रिकॉर्ड्स भी यही कहते हैं कि जिस हवाई उड़ान और समय का जिक्र ‘नेताजी’ के संदर्भ में किया जाता है, वैसा कुछ भी नहीं है.

इसके अलावा ‘नेताजी’ जैसी शख्सियत के मृत्यु की पुष्टि के लिए उस तथाकथित नेताजी के राख की “डी.एन.ए. रिपोर्ट” भी नहीं जारी की गई.



Source: newsgram



--------------
यह भी पढ़े : आंखों का धोखा या दिमाग का भ्रम - देखे पूरा मामला
-------------


3. “एक आंख के बदले आंख पूरी दुनिया को अंधा बना देगा” – महात्मा गांधी

गांधी अपनी बातों को एक वाक्य में कहने के लिए मशहूर थे. और गर वे आज के दौर में होते तो शायद ट्विटर के बेताज बादशाह होते. मगर ये मशहूर उक्ति उनकी नहीं है. आम अवधारणा के विपरीत ये शब्द ‘बेन किंग्स्ले’ ने “गांधी फ़िल्म” के दौरान बोले थे. क्योंकि गांधी के द्वारा लिखे गए दस्तावेजों और किताबों में कहीं भी इसका जिक्र नहीं है.


Source: wallpaperssfree



4. लालू प्रसाद यादव की पुत्री मीसा भारती का हार्वर्ड में लेक्चर 

मीसा भारती जो कि आर.जे.डी. सुप्रीमो की बड़ी बेटी हैं ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय के एक सभागार में लोगों को सम्बोधित करते हुए अपनी तस्वीर फेसबुक, ट्विटर और सोशल मीडिया पर साझा की. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि उन्हें वहां राजनीति में युवाओं की भूमिका पर बोलने के लिए आमंत्रित किया गया था. हालांकि हार्वर्ड के प्रवक्ताओं ने इस बात को स्पष्ट कर दिया कि उन्हें ऐसे किसी भी लेक्चर के लिए नहीं बुलाया गया था.


Source: indiatoday



5. भारत का राष्ट्रीय खेल 
हॉकी है

एक आर.टी.आई. के जवाब में भारत के खेल मंत्रालय ने इस बात को स्पष्ट किया है कि उन्होंने किसी भी खेल को राष्ट्रीय खेल नहीं घोषित किया है. हालांकि सरकार के ही वेब पोर्टल, www.india.gov.in ने एक आर्टिकल पोस्ट किया है, जिसमें वे हॉकी को राष्ट्रीय खेल बताते हैं. तथ्य तो यही बताते हैं कि हॉकी को कभी भी राष्ट्रीय खेल नहीं घोषित किया गया!


Source: indiatimes



6. दुनिया का प्राचीनतम शहर 
वाराणसी (बनारस) है

वाराणसी को माना जाता है कि यह दुनिया का सबसे पुराना बसाया गया शहर है. और हिन्दू मिथकों की मानें तो यह महादेव के त्रिशूल पर स्थापित है. मगर तथ्य कुछ और बताते हैं क्योंकि 1100 ईसापूर्व पूरी दुनिया में 30 से अधिक शहरों को बसाया जा चुका था. अब इन बातों का इतिहासकार संज्ञान लें तो ही कुछ होगा.


Source: audiocompass



7. इंडिया आधिकारिक तौर पर 1947 से ही एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है

भारत राष्ट्र के लिए सर्वप्रथम बने संविधान में धर्मनिरपेक्ष शब्द का इस्तेमाल नहीं था. संविधान को 1976 में संसोधित करके इसकी प्रस्तावना और दूसरे सेक्शन्स में “धर्मनिरपेक्ष” शब्द को लाया गया. सुप्रीम कोर्ट इस बात को हमेशा कहती रही है कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है, तो फ़िर इस बात का जिक्र हमारे संविधान में क्यों नहीं था?


Source: livelystories



8. हिन्दी हमारे देश की एक मात्र आधिकारिक भाषा है

हिन्दी हमारे देश की राजभाषा है, मगर आधिकारिक नहीं. हमारे देश में 20 से अधिक आधिकारिक भाषाएं हैं. पंजाबी, मराठी, तेलगु, तमिल, कन्नड़, बंगाली, अंग्रेजी उनमें से एक हैं. हालांकि सरकारों को इस बात की पूरी छूट है कि वे अपने राज्य के आधिकारिक भाषाओं को बढ़ावा और विस्तार दे सकें.



9. महात्मा गांधी किसी कार्यक्रम के दौरान एक फिरंगी महिला के साथ ठुमके लगाते हुए

कसम से मैं ख़ुद भी इस तस्वीर को लंबे समय तक सच मानता रहा था. मगर इस तस्वीर में गांधी इस फिरंग के साथ नहीं नाच रहे हैं. दरअसल यह एक ऑस्ट्रेलियाई ऐक्टर है जिसने गांधी जैसी ड्रेस पहन रखी है. गांधी पूरी दुनिया के लोगों के लिए आदर्श हैं और आज भी उनके जैसी ड्रेस में लोग देखे जाते हैं. अब तो आप समझ ही गए होंगे.




10. अयोध्या नगरी का अस्तित्व रामायण के काल से ही है

वर्तमान काल में जो अयोध्या नगरी हम सभी के बीच विराजमान है उसे राजा विक्रमादित्य ने बसाया था. और रामायण काल में इसका कोई अस्तित्व नहीं था. इस नगरी के स्थापत्य के पीछे यह मकसद ही था कि उस पुराने रहस्य और अध्यात्म को पुनर्जागृत किया जा सके. साथ ही हम आपको यह भी बताते चलें कि थाईलैंड में भी एक ‘अयुथ्थया’ नामक शहर है, जिसके पास भी कुछ इसी तरह की मिथकीय कहानियां हैं और अपना रामायण भी.



हम अब तक इन्हें सच समझते रहे हैं, सही कहा ना? अगर इनमे कुछ गलत होतो कृपया हमें ईमेल के द्वारा बताये !
ईमेल : gazab.dunia[at]gmail.com
10 ऐसे झूठ जिन्होंने पूरे इंडिया को बेवक़ूफ़ बना रखा है जैसे की भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है! 10 ऐसे  झूठ जिन्होंने पूरे इंडिया को बेवक़ूफ़ बना रखा है जैसे की भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है! Reviewed by Menariya India on 10:16 PM Rating: 5