जीवों की ऐसे हरकते जिन्हे विज्ञान अभी तक नहीं जाना पाया - जाने

इस पर विश्वास करना थोड़ा कठिन है, पर यह सच के ज़्यादा करीब है कि आज भी दुनिया में प्रकृति की कुछ ऐसी हरकते हैं जो विज्ञान और वैज्ञानिकों से परे बनी हुई हैं

जैसे बिल्ली का म्याऊं करना और घुरघुराना या फिर व्हेलों का किनारे पर आकर आत्महत्या कर लेना,

क्या यह हमारे लिए हमेशा कोई गुत्थी ही बनी रहेंगी या फिर हम इन्हें सुलझा लेंगे? बहरहाल, पेश हैं देश-दुनिया की कुछ ऐसी ही गुत्थियां जो आज भी मानवमात्र के लिए किसी रहस्य की तरह हैं...


1. जीव-जंतुओं का पलायन





पलायन अमूमन हर तरह के जीव-जंतुओं में देखा-सुना जाता है. इसमें पक्षी, स्तनपायी, मछलियां, सरिसृप और कीड़े भी शामिल हैं. आश्चर्य तो यह है कि किस प्रकार ये सारे जीव-जंतु ऐसी अद्भुत यात्राओं पर जाकर वापस लौट आते हैं और वे कभी रास्ता भी नहीं भूलते? इसे लेकर कई तरह की बातें चलती हैं मगर वैज्ञानिक वास्तविक कारण अब तक नहीं खोज पाए हैं.



2. बिल्ली का म्याऊं करना और घुरघुराना


क्या आपको पता है कि बिल्ली की घुरघुराहट जानवरों के साम्राज्य की सबसे रहस्यमयी आवाज़ है? वैज्ञानिकों का कहना है कि वे अलग-अलग समय पर अलग-अलग आवाज़ें निकालती हैं. आराम करते वक़्त अलग आवाज़, खाते वक़्त अलग आवाज़ और बच्चों को जन्म देते वक़्त अलग आवाज़. शायद यही वजह हों कि इनकी घुरघुराहट का रहस्य कोई नहीं जान पाया है.



3. जेलीफिश झील से जेलीफिश का एकदम से गायब हो जाना


पलाउ के आइल मल्क द्वीप के इस झील का नाम कभी जेलीफिश झील हुआ करता था. यह झील एक समुद्री झील है और यह सोतों और बांधों के माध्यम से समुद्र से जुड़ा है. पहले यहां लाखों की संख्या में जेलीफिश देखी जाती थीं मगर सन् 1998 से 2000 के बीच जाने ऐसा क्या हुआ कि इस रास्ते एक भी जेलीफिश नहीं आईं, और वैज्ञानिक इसके पीछे की वजह आज भी नहीं खोज पाए हैं.




4. व्हेलों का किनारे पर आकर आत्महत्या कर लेना


हर साल लगभग 2000 व्हेलें समंदर के किनारों पर आकर ख़ुदकुशी कर लेती हैं. लाख कोशिशों के बाबजूद वैज्ञानिक इसके पीछे की वजह नहीं खोज पाए हैं. इसे लेकर हज़ार तरह की बातें हैं मगर कोई बात पुख़्ता नहीं है.



5. मोनार्क तितली का पलायन


हम पहले भी जीव-जंतुओं के पलायन की बात कर चुके हैं, मगर इस जीव का पलायन तो बिल्कुल से चौंकाता है. इस तितली का जीवन मात्र 6 माह का होता है. इसका मतलब होता है कि किसी जगह पर वापस लौटने का मतलब होता है कि उनकी अगली पीढ़ी की वापसी पुराने जगह पर होती है. वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं का दावा है कि ऐसा उन तितलियों के एंटीना की वजह से संभव हो सका है, मगर यह पूरा और अंतिम सच नहीं है.




6. एक समय पर चमकने वाले जुगनू


यह प्रजाति अमेरिका के धुंआई पर्वतों में पाई जाती है. ये जुगनू एक साथ ही जलते-बुझते हैं जैसे संगीत पर नाच रहे हों. ऐसा वे साल में एक बार ही करते हैं और उनके ऐसा करने की कोई वजह अब तक नहीं पता चल सकी है.



7. हमपैक व्हेल का गीत गाना


हमपैक व्हेल का पुरुष एक बहुत लंबी और जटिल आवाज़ निकालता है, पहले पहल यह माना गया कि यह महिला व्हेलों को आकर्षित करने हेतु ऐसा करता है, मगर अध्ययन से ऐसा पता चलता है कि वे पुरुष व्हेल को भी आकर्षित करते हैं. वे एक दूसरे के लिए गीत गाते हुए आगे को बढ़ते हैं. आज भी हमपैक व्हेल का संगीत पूरी दुनिया के लिए एक रहस्य है.
Article Create from: list25
आख़िर प्रकृति से बड़ा कलाकार कोई और नहीं.
जीवों की ऐसे हरकते जिन्हे विज्ञान अभी तक नहीं जाना पाया - जाने जीवों की ऐसे हरकते जिन्हे विज्ञान अभी तक नहीं जाना पाया - जाने Reviewed by Menariya India on 10:20 PM Rating: 5