दुनिया की 8 ऐसी जगहें जहा शायद आप और हम इस जनम में तो नहीं जा पाएंगे

दुनिया में लगभग हर इंसान की इछा है की इस दुनिया का एक चक्कर लगाया जाये , यानि की पूरी दुनिया देखना चाहते है  और इछा होगी भी क्यों ना क्यों की ये दुनिआ है ही इतनी खूबसूरत और गज़ब , ऐसे कई लोग है जिन्होंने  दुनिया का कोना-कोना छान मारा होगा. मगर इस सभी के बावजूद दुनिया में ऐसी बहुत सारी जगहें हैं जो सभी के लिए आज भी दूर की कौड़ी हैं. ऐसे क्लब जो सिर्फ़ बेइंतहा अमीर लोगों के लिए बने हैं, ऐसे द्वीप जो टूरिस्टों की नज़रों से बचाकर सुरक्षित और साफ-सुथरे रखे गए हैं ताकि सिर्फ़ चयनित लोग ही इनका मज़ा उठा सकें. यहां हम ख़ास आप सभी के लिए लाए हैं दुनिया के 8 ऐसे स्थान जिन्हें आपको एक बार ज़रूर देखना चाहिए, मगर शायद ही इन्हें देखने का मौका मिले...


1. स्वालबार्ड वैश्विक बीज तहखाना, नॉर्वे (Svalbard Global Seed Vault, Norway)


यह बेहद सुरक्षित तहखाना उत्तरी सागर के एक निर्जन द्वीप पर विशेष वैज्ञानिक तकनीक से निर्मित किया गया है, जिसके पीछे मूल मकसद वैज्ञानिकों द्वारा विकसित 2500 लाख फसलों के बीजों और प्रजातियों को बचाना है. ये बीज और प्रजातियां यहां पूरी दुनिया से लाकर रखी गई हैं. इनके रखरखाव में 90 लाख अमेरिकी डॉलर खर्च होते हैं. इस तहखाने में आप चाह कर भी दाखिल नहीं हो सकते – इस जगह से शोधकर्ता व दूसरे ग्रुप भी अनुरोध पर बीज व पौध प्रजातियां ले जा सकते हैं. अगर आप फ़िर भी किसी जुगाड़ से यहां दाखिल हो पाये तो पायेंगे कि, किस तरह कृषि के विस्तार और उम्मीद को इन्होंने संजो कर रखा है. और यदि दुनिया कभी ध्रुवीय हिम के पिघलन की चपेट में आयी तो सब-कुछ सुरक्षित बचाया जा सकता है.



2. फोर्ट नॉक्स – केंटकी, अमेरिका (Fort Knox – Kentucky, USA)


‘यहां परिंदे पर भी नहीं मार सकते’ जैसी कहावत शायद इसी जगह के बाबत कही गई है. अमेरिका के केंटकी में सोना-चांदी और बेशकीमती हीरे-जवाहरात के सुरक्षा हेतु एक तहखाना निर्मित किया गया है. आज इस तहखाने में 4,500 मेट्रिक टन शुद्ध सोना है. ग्रेनाइट पत्थरों से बने इस तहखाने में सुरक्षा के लिए ब्लास्ट-प्रूफ दरवाजे लगा है, जो 22 टन भारी और 21 इंच मोटा है. इस तहखाने की सुरक्षा में 30,000 सैनिक अत्याधुनिक हथियारों और टैंकों के सहारे लगे हैं. यहां दाखिले के लिए आपको दस अलग-अलग पासवर्ड वो भी दस अलग-अलग लोगों से और दस अलग-अलग जगहों से लाने होंगे. अब तो आप समझ ही गए होंगे कि लोग क्यों फोर्ट नॉक्स को इतना सुरक्षित मानते हैं.



3. द व्हाइट जेंटलमैन क्लब – लंदन, इंग्लैंड (The White Gentlemen’s Club – London, UK)




सन् 1693 में स्थापित यह क्लब विशेष तौर पर ब्रिटेनवासियों के लिए है, जिसके उल्लेखनीय सदस्य प्रिंस चार्ल्स, प्रिंस विलियम, कैम्ब्रिज के ड्यूक और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री भी हैं. पिछली कई सदियों से यहां इस्तेमाल होने वाली डायरियां और बाज़ी खेली जाने वाली कॉपियों में फ्रांस की क्रांति, नेपोलियन के युद्ध से लेकर वहां के कई महत्वपूर्ण राजनीतिक गतिविधियों का भी ज़िक्र है. यहां अब तक महिलाओं को मेंबरशिप नहीं दिया गया है, यहां तक कि बी.बी.सी टेलीविज़न सीरीज़ की मशहूर बावर्ची रोज़ा लेविस को भी नहीं.



4. वूमेरा वर्जित क्षेत्र, ऑस्ट्रेलिया (Woomera Prohibited Area, Australia)


ऑस्ट्रेलिया का वूमेरा नामक यह मिलिट्री टेस्टिंग रेंज 124,000 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है. हालांकि इसे वर्जित क्षेत्र के तौर पर जाना जाता है, मगर वूमेरा का नज़दीकी शहर आम जनता के लिए खुला हुआ है. यहां जाने के लिए आप भले ही किसी कारण की तलाश करें, मगर यहां रुकना खतरे से खाली नहीं. यहां सोने, लोहे, ओपल और यूरेनियम की खदान हैं जहां सभी का जाना निषिद्ध है. हो सकता है कि आप यहां किसी तरह बचते-बचाते पहुंच भी जाएं, मगर इस जगह पर आपको पल-पल खतरों का सामना करना पड़ सकता है. संक्षेप में कहें तो यह कोई सप्ताहांत बिताने वाली जगह नहीं.



5. इंग्लैंड की रानी का शयनकक्ष – लंदन, इंग्लैंड (The Queen’s Bedroom – London, UK)


आपको यह शयनकक्ष बकिंघम पैलेस में मिलेगा, जो ब्रिटेन राजघराने द्वारा 1705 में निर्मित आधिकारिक आवास है. हालांकि यहां की सुरक्षा व्यवस्था बड़ी ही पुख्ता है, इसके बावजूद सन् 1982 में एक व्यक्ति किसी तरह यहां जाकर छिप गया था. अब तक वही एक मात्र इंसान है जो बिना किसी राजकीय परमिशन और परमिट के वहां दाखिल हुआ. और यदि आप भी हमारी तरह कोई आम इंसान हैं, तो निकट भविष्य में इसे देखने की कोई सम्भावना नहीं दिखती.



6. जियांग्सू राष्ट्रीय सुरक्षा शैक्षणिक अजायबघर, चीन (Jiangsu National Security Education Museum, China)




इसे अगर जेम्स बॉंड की चीज़ों की प्रदर्शनी कहें तो यह अतिशयोक्ति नहीं होगी. चीनी जासूसी के विशेष और महत्वपूर्ण दस्तावेज़ यहां रखे हुए हैं. यहां लिपस्टिक के रूप में रखी गई बंदूकें हैं तो वहीं सिक्कों को इस तरह ढाला गया है कि उनके भीतर गुप्त दस्तावेज़ और कार्डों पर गुप्त नक्शे रखे जा सकें. इस म्यूजियम में सिर्फ़ चीनी ही प्रवेश कर सकते हैं. चीनी सरकार इस मामले में विदेशियों पर विश्वास नहीं करती और उनका ऐसा मानना काफ़ी हद तक सही भी है.


7. लसकॉक्स गुफाएं, फ्रांस (Lascaux Caves, France)




फ्रांस में स्थित यह गुफा दुनिया के कुछेक महत्वपूर्ण पुरातात्विक खोजों में से एक है – जहां गुफा भित्तिचित्र और आदिम जाति के पुरातन कदमों के चिन्हों को भी देखा गया है जो कि आज से दसियों हजार साल पुराने बताए जाते हैं. फंगस (फफूंद) से फैलने वाले संक्रमण से बचाने हेतु यहां आम जनता का आना-जाना मना है. किसी विशेष मौके पर या मिशन पर यहां लोगों को विशेष व्यवस्था से लाया जाता है. हालांकि इस गुफा पर एक डॉक्यूमेंटरी बनी है “Cave of Forgotten Dreams” जिसमें आप इस गुफा के भीतर की गई फ़ोटोग्राफ़ी को देख सकते हैं.


8. एयर फोर्स वन विमान, अमेरिका (Air Force One, USA)


अमेरिका के राष्ट्रपति द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला आधिकारिक विमान पहले-पहल सन् 1953 में डिज़ाइन किया गया था. यह विमान इलेक्ट्रोमैगनेटिक पल्स शील्ड से सुरक्षित है और साथ ही रेडियोधर्मी किरणों से भी लैस है. मिसाइल युक्त यह विमान राडारों को भी जाम कर सकता है, और ईंधन खत्म होने पर यह ज़मीन पर उतरे बगैर काम कर सकता है. 9/11 के मौके पर जब अमेरिका के ट्विन टावर पर हमला हुआ था तो राष्ट्रपति जॉर्ज बुश को भी इसी विमान से सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया गया था. अब तो आप समझ ही गए होंगे कि यह कितना सुरक्षित होगा.



इस आर्टिकल को पड़ने के बाद तो पका आप कहोगे , गज़ब दुनिया
अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी हो तो शेयर करे : 
ईमेल : info[at]gazabdunia.com
This Article is curated from: zonnews
दुनिया की 8 ऐसी जगहें जहा शायद आप और हम इस जनम में तो नहीं जा पाएंगे दुनिया की 8 ऐसी जगहें जहा शायद आप और हम इस जनम में तो नहीं जा पाएंगे Reviewed by Menariya India on 6:00 PM Rating: 5