चुन्नी लेके सोती थी, कमाल लगती थी'.

चुन्नी लेके सोती थी, कमाल लगती थी'. ये पंक्तियां हैं 'माचिस' फिल्म के मशहूर गाने 'चप्पा चप्पा चरखा चले' की. लेकिन जब Radio Mirchi के टैलेंटेड लोगों ने इस गाने को बॉलीवुड के नामी सिंगर्स की स्टाइल में गाया तो एक नया राग निकल कर आया. 'राग मल्हार नहीं...राग हा-हा कार'. तो इस वीडियो को देखो और जानो कि कम्बख़्त चुन्नी लेकर आखिर सोया कौन?
चुन्नी लेके सोती थी, कमाल लगती थी'. चुन्नी लेके सोती थी, कमाल लगती थी'. Reviewed by Menariya India on 2:52 PM Rating: 5