4 प्रसिद्ध मंदिर (उदयपुर - चित्तौड़गढ़ - राजसमंद ) राजस्थान में

1. श्री साँवलिया जी मंदिर
श्री साँवलिया जी का मंदिर राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में मण्डफिया गाँव में स्थित है। यहाँ साँवलिया जी का भव्य मंदिर है । यह चित्तौड़गढ़ से उदयपुर जाने वाली फोर लेन हाइवे से थोड़ा अंदर स्थित है। तथा उदयपुर से करीब 40 किलोमीटर दूर है।




श्रद्धालु श्री साँवलिया जी को श्री साँवरिया सेठ भी कहते है। ऐसा माना जाता है की यहाँ आने वाले श्रद्धालु की मनोकामनाए पूरी होती है। यहाँ आप किसी भी मौसम में किसी भी समय आ सकते है। श्री साँवलिया जी के दर्शन हमेशा खुले रहते है। साँवरिया जी मंदिर में बड़ा मनोरम तथा शांत वातावरण है। तथा यहाँ हर समय श्रधालुओ की भीड़ लगी रहती है। साँवरिया जी भगवान कृष्ण के दूसरे रूप है। साँवरे का मतलब ही साँवला या स्याम या आसमानी होता है। और यह रंग केवल हिन्दू भगवान कृष्ण का है।



2. श्रीनाथजी श्री नाथद्वारा
श्रीनाथजी का मंदिर नाथद्वारा जिला राजसमंद में स्थित है । श्रीनाथजी का दूसरा नाम श्री कृष्ण है। श्रीनाथजी गोकुल, मथुरा और वृंदावन से आए थे । गोकुल, मथुरा और वृंदावन श्रीनाथजी (श्री कृष्ण) का जन्मस्थान है। कई लोग (विशेष रूप से गुजरात) से श्रीनाथजी दर्शन के लिए यहां आते हैं। त्योहारों में जनता का नाथद्वारा में आना बढ़ जाता है।


श्रीनाथजी के दर्शन की अनुसूची: ( यह बदली जा सकती है)
मंगला 5.15 AM to 6.00 AM
श्रृंगार 7.15 AM to 7.30 AM
राजभोग 11.30 AM to 12.15 PM
उत्थापन 3.45 PM to 4.00PM
भोग आरती 5.15 PM to 6.00 PM
शयन 6.45 PM to 7.15 PM


3.चारभुजा जी – गढ़बोर
चारभुजा भगवान विष्णु का दूसरा नाम है। यह जगह गांव गढ़बोर जिला राजसमंद तहसील कुम्भलगढ़ में है। राजपूत जिन्हे बोर कहा जाता है, ने एक किले के साथ गढ़बोर की स्थापना की। किले को हिंदी में गढ़ कहते हैं। इसलिए, इस गांव का नाम गढ़बोर था। भगवान विष्णु के चार हाथ है, इसलिए उनका दूसरा नाम चारभुजा है। चारभुजा का मतलब है चार हाथ है। यह मंदिर अरावली पर्वत श्रृंखला में है। चारभुजा राजसमंद जिले से लगभग 38 किलोमीटर की दूरी पर है। उदयपुर से जा सकते है




4. परशुराम महादेव कुम्भलगढ़
परशुराम महादेव राजस्थान में राजसमन्द जिले के कुम्भलगढ़ तहसील में स्थित है। यह मंदिर कुम्भलगढ़ से कुछ 8 किमी आगे स्थित है। कुम्भलगढ़ जाने के लिए राजसमन्द के नाथद्वारा से रास्ता जाता है जो सिंगल लेन डामर रोड है एवं इसका कई भाग पहाड़ो से व गाँवो से जाता है। लेकिन एक बस या कार आसानी से यहाँ पहुंच जाती है।


परशुराम महादेव एक बहुत ऊँची पहाड़ी के बीच में एक गुफा में बने छोटे से मंदिर में विराजमान है। परशुराम महादेव मंदिर पर पहाड़ के बीच में जाने के दो रस्ते उपलब्ध है। एक रास्ता पहाड़ के निचे से शुरू होकर सीढ़ियों की चढाई चढ़ कर पहाड़ के बीच में बने मंदिर तक जाता है। तथा दूसरा रास्ता पहाड़ के ऊपर से सीढिया उत्तर कर मंदिर तक जाता है।
4 प्रसिद्ध मंदिर (उदयपुर - चित्तौड़गढ़ - राजसमंद ) राजस्थान में 4  प्रसिद्ध मंदिर (उदयपुर  - चित्तौड़गढ़ - राजसमंद ) राजस्थान में Reviewed by Menariya India on 11:44 PM Rating: 5