जाने क्या है : सेक्‍स से संबंधी भ्रम और तथ्‍य

सेक्‍स को लेकर लोगों में हमेशा ही भ्रम बना रहता है, सेक्‍स के बारे में अधूरी जानकारी इसका प्रमुख कारण है। सेक्‍स के बारे में सही जानकारी न होने पर स्‍त्री और पुरूष इसके बारे में अंदाजा लगाते हैं जो कि गलत होता है।



सेक्‍स संबंधी भ्रम के कारण ही लोग इसका आनंद नही उठा पाते हैं। जिसके कारण उनका पार्टनर इस बात से हमेशा खिन्‍न रहता है।


आइए हम आपके सेक्‍स संबंधित भ्रम को दूर करते हैं।

भ्रम - ओरल सेक्‍स से कोई खतरा नही होता है। पुरूष हमेशा सेक्‍स के लिए तैयार रहते हैं।
तथ्‍य - ओरल सेक्‍स से सेक्‍सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियों के फैलने का ज्‍यादा खतरा होता है। ओरल सेक्‍स के दौरान अगर मुंह या गले में कही कटा हो तो इससे इन बीमारियों के फैलने का खतरा होता है।तनाव और थकान के चलते अक्‍सर पुरूष सेक्‍स में रुचि नही रखते हैं। एक रिसर्च के अनुसार 14 फीसदी पुरूष सेक्‍स के बारे में हर 7 मिनट में सोचते हैं।




भ्रम - साइज मैटर नही करता है। फोरप्‍ले नही करना चाहिए।
तथ्‍य - अपने मन से यह भ्रम निकाल दीजिए कि साइज से सेक्‍स संबंध पर असर पड़ता है। सेक्‍स संबंध बनाते वक्‍त सबसे ज्‍यादा जरूरी है कि आप अपने पार्टनर की भावनाओं को समझें।सेक्‍स का आनंद लेने के लिए फोरप्‍ले बहुत जरूरी है। फोरप्‍ले के सही तरीके अपनाकर आप अपने पार्टनर को खुश कर सकते हैं।


भ्रम - प्रीमेच्‍योर इजेकुलेशन (शीघ्रपतन) बीमारी नही है। सेक्‍स के आसन नही करने चाहिए।
तथ्‍य - यह बीमारी पुरूषों में सबसे सामान्‍य है। सेक्‍स के लिए तैयार होते वक्‍त फोरप्‍ले के दौरान ही अगर सीमन बाहर आता है तो इसे प्रीमेच्‍योर इजैकुलेशन कहते हैं। ऐसी स्थित में पुरूष अपनी महिला पार्टनर को संतुष्‍ट नही कर पाता है।सेक्‍स संबंध बनाते वक्‍त विभिन्‍न तरीके के आसनों को किया जा सकता है। लेकिन सुरक्षित और आसान आसनों का ही प्रयोग कीजिए।


भ्रम - सेक्‍स के दौरान सेक्‍स पॉवर बढ़ाने वाली दवाओं का प्रयोग करना चाहिए।
तथ्‍य - बाजारों में मिलने वाली विभिन्‍न प्रकार की दवाओं का प्रयोग करके कुछ समय के लिए आप अपनी सेक्‍स क्षमता को बढ़ा सकते हैं लेकिन इन दवाओं का साइड इफेक्‍ट ज्‍यादा होता है। इसलिए इन दवाओं का प्रयोग न करें।



भ्रम - गर्भावस्‍था के दौरान सेक्‍स नही करना चाहिए। मीनोपॉज बंद होने के बाद महिलाओं की सेक्‍स लाइफ समाप्‍त हो जाती है।
तथ्‍य - गर्भावस्‍था के दौरान भी सेक्‍स संबंध बनाये जा सकते हैं। लेकिन गर्भावस्‍था की निश्चित अवधि के बाद सेक्‍स संबंध बिलकुल नही बनाने चाहिए। मीनोपॉज बंद होने के बाद भी महिलाएं सेक्‍स संबंध बना सकती हैं। मीनोपॉज बंद होने का मतलब यह नही कि महिलाओं की सेक्‍स लाइफ समाप्‍त हो गई।



भ्रम - खान-पान का सेक्‍स लाइफ पर असर नही होता है।
तथ्‍य - जी नहीं, खान-पान का सेक्‍स लाइफ पर पूरा असर पड़ता है। सेक्‍स पॉवर आपकी डाइट चार्ट पर निर्भर करती है। अगर आप हेल्‍थी और पोषणयुक्‍त आहार का सेवन करते हैं तो आपकी सेक्‍स पॉवर ज्‍यादा होगी।
gajab dunia, gajab duinya, gajabduina, gajabduinya, ajab gajab dunia, ajabgajab azab gajab, ajabgjab, chut, chutiya log, hindi me chut, 
सेक्‍स संबंधी भ्रम के कारण ही लोग इसका आनंद नही उठा पाते हैं।
source : onlymyhealth[email protected]
जाने क्या है : सेक्‍स से संबंधी भ्रम और तथ्‍य जाने क्या है : सेक्‍स से संबंधी भ्रम और तथ्‍य Reviewed by Menariya India on 11:24 AM Rating: 5