ज्‍यादा कोर यानी ज्‍यादा पॉवर,

"ज्‍यादा कोर यानी ज्‍यादा पॉवर" शायद आपमें से कई लोग इसका मतलब न समझे हों, जैसे मोटरसाइकिल की पॉवर उसके सीसी ने नापी जाती है वैसे ही स्‍मार्टफोन की पॉवर उसके कोर पर निर्भर करती है। किसी-किसी स्‍मार्टफोन में ड्युल कोर होता है तो किसी में क्‍वॉड कोर यानी चार कोर होते हैं। 

 मार्केट में क्‍वॉड कोर के आपको कई मॉडल मिल जाएंगे जो साधारण यूज़ के काफी है। लेकिन अगर आप हाई इंड यूजर है यानी ऐसा स्‍मार्टफोन लेना चाहते हैं तो हर तरह से पॉवर के मामले में परफेक्‍ट हो तो ऑक्‍टाकोर स्‍मार्टफोन आपके लिए बेस्‍ट होगा। ऑक्‍टाकोर यानी इसमें 8 कोर होते हैं। आपके स्‍मार्टफोन यूज पर निर्भर करता है कि फोन में कितने कोर चलेंगे। स्‍मार्टफोन को जितनी जरूरत होगी उतने कोर अपने आप काम करने लगेंगें। 

ज्‍यादा कोर यानी ज्‍यादा पॉवर, ज्‍यादा कोर यानी ज्‍यादा पॉवर, Reviewed by Menariya India on 5:39 PM Rating: 5